Himachal News : आपदा में राज्य सरकार के प्रयासों को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने सराहा

Himachal News : आपदा में राज्य सरकार के प्रयासों को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने सराहा

Himachal News : हिमाचल प्रदेश में इस वर्ष मॉनसून सीजन में भारी बारिश, भू-स्खलन तथा बाढ़ से आई आपदा के दौरान राहत एवं बचाव कार्यों के तहत बेहतरीन नेतृत्व प्रदान के लिए मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू के प्रयासों को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने भी सराहा है। उन्हें सशक्त राजनीतिक नेतृत्व तथा लोकतांत्रिक मूल्यों को सुदृढ़ कर जनहित और जन कल्याण के लिए ‘सर्टिफिकेट ऑफ एक्सीलेंस’ से सम्मानित किया गया है।

मुख्यमंत्री को ‘सर्टिफिकेट ऑफ एक्सीलेंस’ से सम्मानित किया
वर्ल्ड बुक आफ रिकॉर्ड्स के अधिकारियों सुमित सिंगला और जसवीर सिंह ने मुख्यमंत्री को यह सम्मान प्रदान किया। इससे पहले वर्ल्ड बैंक और नीति आयोग ने भी आपदा के दौरान बेहतर राहत एवं बचाव कार्यों के लिए मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू के प्रयासों की प्रशंसा की है।

72 घंटे रहकर राहत एवं बचाव कार्यों का नेतृत्व किया
ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने फंसे हुए लोगों की मदद के लिए आपदा के बीच 72 घंटे रहकर राहत एवं बचाव कार्यों का नेतृत्व किया। उनके मार्गदर्शन में 75 हजार पर्यटकों और 15 हजार गाड़ियों को प्रदेश से सुरक्षित निकाला गया। इसके साथ-साथ 48 घंटे की छोटी सी अवधि के दौरान बिजली, पानी और संचार सेवाओं जैसी आवश्यक को अस्थाई तौर पर बहाल कर दिया गया, जिससे स्थिति सामान्य हुई तथा लोगों को राहत मिली। मुख्यमंत्री स्वयं ग्राउंड जीरो पर रहकर राहत एवं बचाव कार्यों की निगरानी कर अधिकारियों को उचित निर्देश देते रहे।

4500 करोड़ रुपए का विशेष राहत पैकेज घोषित किया
आपदा के बाद भी प्रभावितों की मदद के लिए राज्य सरकार गंभीरता से ठोस कदम उठा रही है। प्रभावित परिवारों के पुनर्वास के लिए राज्य सरकार ने 4500 करोड़ रुपए का विशेष राहत पैकेज घोषित किया है, जिसमें मुआवजा राशि को कई गुना बढ़ाया गया है। पहले जहां पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त मकान की ऐवज में 1.30 लाख रुपए मिलते थे, इसे राज्य सरकार ने बढ़ाकर 7 लाख रुपए किया है।

यह भी पढ़ें ||  Himachal Weather Update || हिमाचल में गर्मी ने अब तक के तोड़े सारे रिकॉर्ड, इस तारीख तक नहीं मिलेगी राहत, 9 जिलों में चलेगी लू

घर बनाने के लिए 280 रुपए प्रति बोरी की दर से सीमेंट

इसके साथ ही उन्हें घर बनाने के लिए 280 रुपए प्रति बोरी की दर से सीमेंट तथा बिजली-पानी का फ्री कुनेक्शन भी उपलब्ध करवाएगी। घर को आंशिक नुकसान होने पर मुआवजा राशि में बढ़ोतरी कर इसे एक लाख रुपए किया गया है। नए प्रावधानों के अनुसार गाय व भैंस जैसे दुधारू की मृत्यु पर प्रति पशु 55 हजार रुपए की वित्तीय सहायता दी जा रही है। भेड़ और बकरी की मृत्यु पर मिलने वाली वित्तीय सहायता को 4000 रुपये से बढ़ाकर 6000 रुपये किया गया है।मुख्यमंत्री ने इस सम्मान के लिए वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स का आभार व्यक्त किया है।https://youtu.be/MMnaMDBi3LY

Focus keyword

सुपर स्टोरी

G-7 Summit || पीएम मोदी इटली से स्वदेश रवाना हुए, आउटरीच सेशन में टेक्नोलॉजी और AI पर दिया जोर G-7 Summit || पीएम मोदी इटली से स्वदेश रवाना हुए, आउटरीच सेशन में टेक्नोलॉजी और AI पर दिया जोर
प्रौद्योगिकी और एआई पर जोर इटली के अपुलिया में जी7 शिखर सम्मेलन के आउटरीच सत्र को संबोधित करते हुए पीएम...
Motivational || सुनील छेत्री, भारत के फुटबॉल स्टार ने लिया संन्यास, संघर्षों से जीतकर हासिल की ये सफलता
UPI Payment users || यूपीआई पेमेंट करने पर लगेगा चार्ज सामने आई बड़ी खबर जानिए पूरी डिटेल
Motivational || देवी चित्रलेखा जी: 6 वर्ष की उम्र से शुरू किया धार्मिक कथावाचन, आज देश के लिए बन चुकी हैं प्रेरणा
IPS Anshika Verma || बला की खूबसूरत हैं यूपी कैडर की यह IPS, बिना कोचिंग क्रैक किया था UPSC
Devi Chitralekha || देवी चित्रलेखा की 20 साल की उम्र में हुई थी शादी, जानें कथावाचिका के पति क्या करते
HDFC Bank Net Banking Update || HDFC Bank के ग्राहकों के लिए नया अपड़ेट, इतने वक्त तक Net Banking से लेकर UPI तक कुछ नहीं चलेगा
Dr Ganesh Baraiya || तीन फुट के डॉक्टर साब, जब करने पहुंचे इलाज तो चकरा गया मरीजों का दिमाग
Success Story || दर्जी की बिटिया ने छू लिया 'आसमान', गरीबी से उठकर बनी जज
Bank Off Baroda Good News || बैंक ऑफ बड़ौदा के धारकों के लिए बड़ी खुशखबरी! बैंक ने कर दिया बड़ा काम