Success Story Nadia Chauhan || 17 साल की उम्र में 300 करोड़ की कंपनी को पहुँचाया 8 हज़ार करोड़ तक। जानिये Parle Agro की नादिया चौहान की कहानी

Success Story Nadia Chauhan || 17 साल की उम्र में 300 करोड़ की कंपनी को पहुँचाया 8 हज़ार करोड़ तक। जानिये Parle Agro की नादिया चौहान की कहानी

Success Story Nadia Chauhan ||  आज देश में कई विदेशी सॉफ्ट ड्रिंक्स ब्रांड्स लोकप्रिय हैं। लेकिन एक ब्रांड की पंचलाइन, “फ्रेश एंड जूसी”, आपको आज भी याद होगी। यह पंचलाइन अधूरी है, लेकिन आप इससे उत्पाद को पहचान गए होंगे, जिसका नाम है “मैंगो फ्रूटी, फ्रेश एंड जूसी”। फ्रूटी, आज हर कोई इस उत्पाद को […]

Success Story Nadia Chauhan ||  आज देश में कई विदेशी सॉफ्ट ड्रिंक्स ब्रांड्स लोकप्रिय हैं। लेकिन एक ब्रांड की पंचलाइन, “फ्रेश एंड जूसी”, आपको आज भी याद होगी। यह पंचलाइन अधूरी है, लेकिन आप इससे उत्पाद को पहचान गए होंगे, जिसका नाम है “मैंगो फ्रूटी, फ्रेश एंड जूसी”। फ्रूटी, आज हर कोई इस उत्पाद को प्यार करता है, लेकिन इसे बनाने वाली Parle Agro एक समय सिर्फ 300 करोड़ रुपये का बिक्री करती थी। Parle Agro, जो फ्रूटी बनाती है, के संस्थापक और सीईओ हैं, प्रकाश चौहान ने बाद में अपनी बेटी नादिया चौहान को ब्रांड मैनेजर के रूप में जॉइन किया, जिससे कंपनी का व्यापार 3 सौ करोड़ से 8 हज़ार करोड़ तक पहुंच गया।

आज जानिये नादिया चौहान की कहानी || Success Story Nadia Chauhan ||

जन्म: 1985, California
पिता: प्रकाश चौहान, Parle Agro के Founder
शिक्षा: कॉमर्स ग्रेजुएट
वर्तमान पद: Parle Agro की MD और CMO

17 साल की उम्र में कंपनी जॉइन की || Success Story Nadia Chauhan ||

नादिया 1985 में कैलिफोर्निया में जन्मी, लेकिन फिर वे मुंबई चली गईं। उन्होंने अपनी स्कूली पढ़ाई मुंबई से पूरी की और वहीं से कॉमर्स में स्नातक किया। नादिया बचपन से ही अपने पिता के साथ कंपनी में काम करती थी, जहां वे अपना समय बिताना पसंद करते थे। वह 19 साल की उम्र में कंपनी में ब्रांड मैनेजर बन गई। उसके बाद, उन्होंने कई निर्णय लेकर कंपनी को ऊँचाइयों पर पहुंचाया।

यह भी पढ़ें ||  Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय

Bailley Packaged Drinking Water और Appy Fizz किया Launch || Success Story Nadia Chauhan ||

जब नादिया ने कंपनी जॉइन की, तब कंपनी सिर्फ फ्रूटी ही बनाती थी और उस समय कंपनी का Turnover 3 सौ करोड़ ही था। नादिया ने कई सारे फैसले लिए, पहले फ्रूटी का पैकेट हरे रंग का हुआ करता था, नादिया ने सुझाव दिया कि इसका रंग आम की तरह पीला कर दिया जाए। इसके बाद ना सिर्फ बच्चों, बल्कि बड़ों और बूढ़ों में भी फ्रूटी फेमस होने लगी। इसके अलावा नादिया ने सिर्फ एक ड्रिंक पर फोकस करने की बजाय और भी ड्रिंक्स Launch करने का फैसला लिया, तब Parle Agro ने Bailley Packaged Drinking Water और सेब से बनी Appy Fizz लांच की।

यह भी पढ़ें ||  Success Story || 42 साल की मां ने अपने 24 साल के बेटे के साथ पास की PCS की परीक्षा, दोनों एक साथ बने अफसर

फ्रूटी में कुछ बदलाव करने पर नादिया ने Bailley Packaged Drinking Water और Appy Fizz को लोकप्रिय बनाया। आज लोग Appy Fizz, Bailley Packaged Drinking Water और फ्रूटी से भी परिचित हैं। 2022-23 में, जो कंपनी सालाना 3 सौ करोड़ रुपये का व्यापार करती थी, उसी ने 8 हजार करोड़ रुपये का व्यापार किया। सिर्फ फ्रूटी का रेवेन्यू इसमें चार हजार करोड़ का है। नादिया ने अपने निर्णय से कंपनी की सेल को कई गुना बढ़ाया है। 2030 तक उनका लक्ष्य 20 हजार करोड़ रुपये का बिक्री करना है।

यह भी पढ़ें ||  PPI Card For Public Transport || RBI ने दी बैंको को दी ये मंजूरी, रेल, मेट्रो, बस, पार्किंग पेमेंट होगा आसान

Focus keyword

ट्रेंडिंग

Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय
Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर...
IPS Officer Success Story || IPS पति-पत्नी का अनोखा अंदाज, काम करने का अलग अंदाज, लोग करते हैं तारीफ
Success Story || 42 साल की मां ने अपने 24 साल के बेटे के साथ पास की PCS की परीक्षा, दोनों एक साथ बने अफसर
PPI Card For Public Transport || RBI ने दी बैंको को दी ये मंजूरी, रेल, मेट्रो, बस, पार्किंग पेमेंट होगा आसान
Success Story || 1.5 लाख महीने की सरकारी नौकरी छोड़ बने IAS, जॉब के साथ की तैयारी, UPSC में पाई 8वीं रैंक
kalyanaraman Success Story || कभी कर्ज लेकर शुरू की थी सोने की दुकान, आज खड़ी कर दी 17,000 करोड़ की कल्याण ज्वेलर्स कंपनी