पांगी के तीन स्कूलों को डिनोटिफाई करने पर पांगी कल्याण संघ ने किया विरोध, प्रदेश सरकार को भेजा ज्ञापन

पांगी के तीन स्कूलों को डिनोटिफाई करने पर पांगी कल्याण संघ ने किया विरोध, प्रदेश सरकार को भेजा ज्ञापन
कुल्लू: जिला चंबा के जनजातीय क्षेत्र पांगी के तीन स्कूलों में प्रदेश सरकार की ओर से डिनोटिफाई करने पर पांगी छात्र कल्याण संघ कुल्लू ने विरोध किया हुआ है। उन्होंने अतिरिक्त जिलाधीश कुल्लू के माध्यम से हिमाचल प्रदेश सरकार को डिनोटिफाई स्कूलों को दोबारा नोटिफाई करने हेतु ज्ञापन भेजा हुआ है। आपकी जानकारी के लिए […]

कुल्लू: जिला चंबा के जनजातीय क्षेत्र पांगी के तीन स्कूलों में प्रदेश सरकार की ओर से डिनोटिफाई करने पर पांगी छात्र कल्याण संघ कुल्लू ने विरोध किया हुआ है। उन्होंने अतिरिक्त जिलाधीश कुल्लू के माध्यम से हिमाचल प्रदेश सरकार को डिनोटिफाई स्कूलों को दोबारा नोटिफाई करने हेतु ज्ञापन भेजा हुआ है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 23 अगस्त को प्रदेश सरकार की ओर प्रदेश भर में कई स्कूलों में डिनोटिफाई किया गया है।

जिसमें जिला चंबा के पांगी के तीन स्कूलों को भी शामिल किया गया है। जिनमें राजकीय प्राथमिक पाठशाला चांगली (पुन्टो), राजकीय प्राथमिक पाठशाला इच्वास (हुडान) राजकीय मिडिल स्कूल कुलाल (मिंधल) को डिनोटिफाई कर दिया गया है। सरकार ने पांगी जैसे दुर्गम क्षेत्र की विषम भौगोलिक परिस्थिति को दरकिनार किया गया है। चांगली से पुंटो प्राईमरी स्कूल के बीच एक नाला पड़ता है जिस पर कोई भी पुलिया नही है जिसका विडियो सोशल मीडिया में पिछले दिनों वायरल भी हुआ था। ऐसे ही कुलाल स्कूलों को बंद करने से बच्चों को काफी परेशानियों को समाना करना पड़ सकता है। उन्होंने बताया कि कुलाल गांव में आज तक सड़क का निमार्ण नहीं हुआ है। ऐसे में वहां के मिडल स्कूल को प्रदेश सरकार की ओर से डिनोटिफाईकर दिया गया है।

यह भी पढ़ें ||  Himachal News || चंबा पांगी व लाहुल घाटी में फिर शुरू हुआ बर्फबारी का दौर, किलाड़ में तीन इंच ताजा हिमपात

यह भी पढ़ें ||  Board Examination || हिमाचल के इस क्षेत्र के बच्चों के लिए खुशखबरी, भारी बर्फबारी में बोर्ड परीक्षा देने नहीं पहुंचे तो मिलेगी यह सुविधा

स्कूल बंद होने से बच्चों को 15 किलोमीटर का पैदल सफर तय कर मिंधल स्कूल जाना पड़ेगा। ऐसे में बीच रास्तें में ग्लेशियर प्वांइट और उबड़ खाबड़ रास्तों का भी सामना करना पड़ेगा। ऐसी चुनौतीपूर्ण परिस्थिति में बच्चे दूसरे जगह कैसे पहुंच पाएंगे यह चिन्ता और सोचनीय विषय है। पांगी छात्र कल्याण संघ कुल्लू सरकार के इस निर्णय की भर्तसना करता है और सरकार से विनम्र आग्रह करता है कि डिनोटिफाई किए गए स्कूल को जल्द से नोटिफाई किया जाए ताकि बच्चों के भविष्य से कोई भी किसी प्रकार का खिलवाड़ न हो सके।

ट्रेंडिंग

UPSC Exam || IAS और IPS अधिकारी बनने के लिए कौन सी डिग्री सबसे अच्छी है? जानिए यूपीएससी की तैयारी कैसे करें UPSC Exam || IAS और IPS अधिकारी बनने के लिए कौन सी डिग्री सबसे अच्छी है? जानिए यूपीएससी की तैयारी कैसे करें
हाइलाइट्स देश में आयोजित होने वाली सबसे कठिन परीक्षा की अगर बात करें तो वह हैं I AS और IPS...
Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय
IPS Officer Success Story || IPS पति-पत्नी का अनोखा अंदाज, काम करने का अलग अंदाज, लोग करते हैं तारीफ
Success Story || 42 साल की मां ने अपने 24 साल के बेटे के साथ पास की PCS की परीक्षा, दोनों एक साथ बने अफसर
PPI Card For Public Transport || RBI ने दी बैंको को दी ये मंजूरी, रेल, मेट्रो, बस, पार्किंग पेमेंट होगा आसान
Success Story || 1.5 लाख महीने की सरकारी नौकरी छोड़ बने IAS, जॉब के साथ की तैयारी, UPSC में पाई 8वीं रैंक