Success Story: कोटा कोचिंग फैक्ट्री से लौटे करन, डिप्रेशन से निकले बाहर, पिता की सलाह से बदली जिंदगी

Success Story: कोटा कोचिंग फैक्ट्री से लौटे करन, डिप्रेशन से निकले बाहर, पिता की सलाह से बदली जिंदगी
Success Story: हर एस्पिरेंट की एक अलग कहानी है। एस्पिरेंट को छात्र या युवा जो जेईई, नीट या यूपीएससी जैसे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, कहा जाता है। राजस्थान का कोटा शहर सिर्फ साड़ियों या कचौड़ियों के लिए प्रसिद्ध नहीं है; यह एक कोचिंग फैक्ट्री भी है। यह शहर जेईई और नीट परीक्षा […]

Success Story: हर एस्पिरेंट की एक अलग कहानी है। एस्पिरेंट को छात्र या युवा जो जेईई, नीट या यूपीएससी जैसे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, कहा जाता है। राजस्थान का कोटा शहर सिर्फ साड़ियों या कचौड़ियों के लिए प्रसिद्ध नहीं है; यह एक कोचिंग फैक्ट्री भी है। यह शहर जेईई और नीट परीक्षा की कोचिंग में प्रसिद्ध है। देश भर से विद्यार्थी कोटा में रहकर डॉक्टर या इंजीनियर बनना चाहते हैं। लेकिन पिछले कुछ वर्षों में कोटा का वातावरण बहुत बदल गया है। कॉम्पिटीशन दर बढ़ने से विद्यार्थियों की आत्महत्या की दर भी काफी बढ़ी है। इससे बच्चे भी घबरा गए हैं और उनके पेरेंट्स भी घबरा गए हैं। इन सबके बीच, करन मित्तल की मनोवैज्ञानिक कहानी पढ़ें।

करन अपनी दादी के साथ कोटा पहुंचे।
Karan Mittal राजस्थान के भरतपुर में रहते हैं। उन्होंने मध्यमवर्गीय मारवाड़ी परिवार से जन्म लिया है। उनके पिता केटरिंग में काम करते हैं। 2018 में करन ने बारहवीं बोर्ड परीक्षा पास की थी। 2019 में वह कोटा पहुंचे और NEET Coaching की तैयारी करने लगे। उनके साथ उनकी दादी भी आई थीं. उन्होंने कोटा में रहते हुए दो बार NEET परीक्षा दी, लेकिन दोनों बार असफल रहे।

यह भी पढ़ें ||  Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय

Karana Mittal Motivational Story : आज कल स्टूडेंट्स डिप्रेशन के शिकार हो रहे हैं. राजस्थान का खूबसूरत शहर कोटा नीट और जेईई परीक्षा की कोचिंग के लिए मशहूर है. यह शहर कई वजह से सुर्खियों में रहता है. कोटा में प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं. कुछ महीनों में ही वहां आत्महत्या के कई मामले रिपोर्ट किए जा चुके हैं. ऐसे में करन मित्तल की कहानी आपको निश्चित रूप से प्रेरणा देगी.
Karana Mittal Motivational Story : आज कल स्टूडेंट्स डिप्रेशन के शिकार हो रहे हैं. राजस्थान का खूबसूरत शहर कोटा नीट और जेईई परीक्षा की कोचिंग के लिए मशहूर है. यह शहर कई वजह से सुर्खियों में रहता है. कोटा में प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं. कुछ महीनों में ही वहां आत्महत्या के कई मामले रिपोर्ट किए जा चुके हैं. ऐसे में करन मित्तल की कहानी आपको निश्चित रूप से प्रेरणा देगी.

कोविड में आने पर घर से फोन
Karan के पिता केटरिंग करने के लिए एक अस्पताल में काम करते थे। ऐसे में उन्हें करन की मदद करनी चाहिए थी। वहीं, नीट के दबाव से करन की तबियत खराब होने लगी। उसने पढ़ाई पर ध्यान नहीं दिया। तब उनके पिता ने उन्हें बताया कि वे एक मारवाड़ी हैं और किसी दूसरे की नौकरी करने के बजाय अपने काम पर ध्यान देना चाहिए।

यह भी पढ़ें ||  IPS Officer Success Story || IPS पति-पत्नी का अनोखा अंदाज, काम करने का अलग अंदाज, लोग करते हैं तारीफ

डॉक्टर बनने का सपना छोड़ दिया
उस समय, करन के दोस्तों को मेडिकल कॉलेज में चुना गया। वह निराश होकर घर चले गए। 2022 में वह अपने पिता की टिफिन कंपनी में शामिल हो गया। अब उनका पूरा परिवार उनके साथ है। मित्तल परिवार तुरंत सफल हो गया और Zomato और Swiggy जैसे खाद्य डिलीवरी साइट्स पर अच्छी प्रतिक्रिया मिली।

यह भी पढ़ें ||  UPSC Exam || IAS और IPS अधिकारी बनने के लिए कौन सी डिग्री सबसे अच्छी है? जानिए यूपीएससी की तैयारी कैसे करें

ट्रेंडिंग

UPSC Exam || IAS और IPS अधिकारी बनने के लिए कौन सी डिग्री सबसे अच्छी है? जानिए यूपीएससी की तैयारी कैसे करें UPSC Exam || IAS और IPS अधिकारी बनने के लिए कौन सी डिग्री सबसे अच्छी है? जानिए यूपीएससी की तैयारी कैसे करें
हाइलाइट्स देश में आयोजित होने वाली सबसे कठिन परीक्षा की अगर बात करें तो वह हैं I AS और IPS...
Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय
IPS Officer Success Story || IPS पति-पत्नी का अनोखा अंदाज, काम करने का अलग अंदाज, लोग करते हैं तारीफ
Success Story || 42 साल की मां ने अपने 24 साल के बेटे के साथ पास की PCS की परीक्षा, दोनों एक साथ बने अफसर
PPI Card For Public Transport || RBI ने दी बैंको को दी ये मंजूरी, रेल, मेट्रो, बस, पार्किंग पेमेंट होगा आसान
Success Story || 1.5 लाख महीने की सरकारी नौकरी छोड़ बने IAS, जॉब के साथ की तैयारी, UPSC में पाई 8वीं रैंक