Himachal के निराश्रित बच्चों को सरकार का तोहफा, सुखविंदर सुक्खू बोले- ‘भविष्य में आप में से ही कोई प्रदेश का CM बनेगा’ ।। Chief Minister Sukh aAshraya Yojna।।

Himachal के निराश्रित बच्चों को सरकार का तोहफा, सुखविंदर सुक्खू बोले- ‘भविष्य में आप में से ही कोई प्रदेश का CM बनेगा’ ।। Chief Minister Sukh aAshraya Yojna।।
Chief Minister Sukh aAshraya Yojna शिमला: हिमाचल प्रदेश के सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू (Chief Minister Sukhwinder Singh Sukhu) ने मंगलवार को राज्य के 2466 निराश्रित बच्चों का संरक्षक बनाया। उन्होंने रिज मैदान में आयोजित कार्यक्रम में उन तमाम बच्चों के लिए बड़ी घोषणा की हुई है। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में 900 बच्चों को 4.68 करोड़ रुपये […]

Chief Minister Sukh aAshraya Yojna शिमला: हिमाचल प्रदेश के सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू (Chief Minister Sukhwinder Singh Sukhu) ने मंगलवार को राज्य के 2466 निराश्रित बच्चों का संरक्षक बनाया। उन्होंने रिज मैदान में आयोजित कार्यक्रम में उन तमाम बच्चों के लिए बड़ी घोषणा की हुई है। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में 900 बच्चों को 4.68 करोड़ रुपये दिए। सुक्खू ने कहा कि यह अपने पालकों को खो चुके बच्चों का हक है, न कि दयाभाव। सीएम ने कहा कि हिमाचल सरकार ने देश भर में कानून के तहत निराश्रित बच्चों को उनके अधिकार देने का उदाहरण दिया है। कार्यक्रम में वे तीस बच्चों को एडवांस लैपटॉप दिए। राज्य के 298 विद्यार्थियों, जो दसवीं और बारहवीं कक्षा में पढ़ रहे हैं, को भी अगले 3-4 दिनों में लैपटॉप मिलेंगे।

मैं सचिवालय से पहले अनाथालय गया- CM सुक्खू ।। Chief Minister Sukh aAshraya Yojna
मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू (Chief Minister Sukhwinder Singh Sukhu) ने अपने संबोधन के दौरान बच्चों से कहा कि वे कभी भी खुद को अकेला न समझें. निराश्रित बच्चे अकेले नहीं हैं. मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू खुद और उनकी पूरी सरकार उनके साथ है. मुख्यमंत्री ने कहा कि जब उन्होंने रिज मैदान पर शपथ ली. तब सभी उनका इंतजार सचिवालय में कर रहे थे, लेकिन वे सचिवालय न जाकर अनाथालय गए. उन्होंने कहा कि उसी दिन उन्होंने बच्चों से कई चीज सीखी. बच्चों से कोई बात तो नहीं हुई, लेकिन उन्होंने उनके मन को पढ़ लिया.

क्या है Chief Minister Sukh aAshraya Yojna और क्या फायदा मिलेगा

सीएम ने कहा कि Chief Minister Sukh aAshraya Yojna  के तहत राज्य में ऐसे 2 हजार 700 बच्चों की पहचान की गई है, जो अपने रिश्तेदारों के पास रह रहे हैं।

यह भी पढ़ें ||  PM Surya Ghar Muft Bijli Yojana || देश वासियों के लिए मोदी सरकार की बड़ी सौगात, पीएम सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना पर कैबिनेट की मुहर

  • इन बच्चों को सरकार 27 साल की उम्र तक हर महीने 4000 रुपए की पॉकेट मनी (Pocket Money) देगी, यानी सालभर में 48 हजार रुपए दिए जाएंगे।
  • सरकार 12वीं के बाद इन बच्चों की पीएचडी तक की पढ़ाई तक का खर्च उठाएगी।
  • योजना के तहत बच्चों की कोचिंग और स्वरोजगार के लिए आर्थिक मदद भी सरकार देगी।
  • बच्चों को कपड़े खरीदने के लिए भी हर साल 10 हजार की राशि उपलब्ध करवाई जाएगी।
  • स्वरोजगार के लिए सरकार निराश्रित बच्चों को 2 लाख रुपए की मदद उपलब्ध करवाएगी। सीएम ने मंगलवार के कार्यक्रम में ही 3 बच्चों को दो-दो लाख रुपए की राशि प्रदान की।
  • योजना के तहत निराश्रित बच्चों को साल में 15 दिन एक्सपोजर टूर की सुविधा मिलेगी। इसमें बच्चे रेल और हवाई यात्रा (Rail And Air Travel) का मजा लेंगे और तीन सितारा होटल में रहेंगे।

Chief Minister Sukh aAshraya Yojna  के तहत प्रदेश मैहर में ऐसे 2 हजार 700 बच्चों की पहचान की गई है, जो अपने रिश्तेदारों के पास रह रहे हैं. सरकार उन्हें 27 साल की उम्र तक हर महीने चार हजार रुपये की पॉकेट मनी भी देगी। इसके अलावा, इन बच्चों को बारहवीं कक्षा पूरी करने के बाद पीएचडी तक की पढ़ाई का खर्च भी सरकार उठाएगी। सरकार ने योजना के तहत बच्चों को स्वरोजगार और कोचिंग के लिए भी धन देने की घोषणा की है। हिमाचल प्रदेश में 18 से 27 वर्ष की उम्र के निराश्रित बच्चों को हर महीने चार हजार रुपये मिलेंगे। इस तरह, निराश्रित बच्चों को हर साल ४८ हजार रुपये मिलेंगे। इसके अलावा, हर साल बच्चों को कपड़े खरीदने के लिए 10 हजार रुपये भी दिए जाएंगे। सरकार निराश्रित बच्चों को स्वरोजगार के लिए दो लाख रुपये देगी। आज हुए कार्यक्रम में भी तीन बच्चों को दो-दो लाख रुपये दिए गए। निराश्रित बच्चों को Chief Minister Sukh aAshraya Yojna  के तहत एक वर्ष में 15 दिन का एक्सपोजर टूर मिलेगा। बच्चों को रेल और हवाई यात्रा का मजा मिलेगा और वे तीन सितारा होटल में रहेंगे।

यह भी पढ़ें ||  Vikramaditya Singh News || हिमाचल में सियासी संकट के बीच कांग्रेस को राहत, विक्रमादित्य सिंह ने वापस लिया इस्तीफा

Himachal के निराश्रित बच्चों को सरकार का तोहफा, सुखविंदर सुक्खू बोले- 'भविष्य में आप में से ही कोई प्रदेश का CM बनेगा' ।। Chief Minister Sukh aAshraya Yojna।।
Himachal के निराश्रित बच्चों को सरकार का तोहफा, सुखविंदर सुक्खू बोले- ‘भविष्य में आप में से ही कोई प्रदेश का CM बनेगा’ ।। Chief Minister Sukh aAshraya Yojna।।

“आप में से ही कोई बच्चा मुख्यमंत्री बनेगा।”

मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू (Chief Minister Sukhwinder Singh Sukhu) ने अपने संबोधन में कहा कि समाज सभी को जोड़कर बनता है। ऐसे बच्चों को कभी भी समाज से अलग करके देखना चाहिए। हर बच्चा समाज का एक हिस्सा है। उन्हें लगता है कि इस योजना की शुरुआत से ऐसे बच्चों को समाज से जुड़ने का अवसर मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कल किसी बच्चे को चुनकर मुख्यमंत्री की कुर्सी तक पहुंचेंगे। मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू (Chief Minister Sukhwinder Singh Sukhu)  ने कहा कि वह खुद ताट में बैठकर सरकारी स्कूल में पढ़ाई करते हुए मुख्यमंत्री की कुर्सी तक पहुंचे हैं। ऐसे में कोई लक्ष्य कठिन नहीं होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कल यही बच्चे खिलाड़ी, इंजीनियर, डॉक्टर और नेता बनकर देश और समाज का नाम रोशन करेंगे।

यह भी पढ़ें ||  Himachal Political Crisis Live || हिमाचल विधानसभा से BJP के 15 विधायक सस्पेंड, शिमला पहुंचे कांग्रेस के बागी विधायक

इस योजना लाभ लेने के लिए लाभार्थी के पास कुछ जरूरी दस्तावेज होने चाहिए। जिनकी आवश्यकता इस योजना में आवेदन करते समय पड़ेगी। बाकी जरूरी दस्तावेज कुछ इस प्रकार है 

  • लाभार्थी का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • अनाथ बच्चे के माता – पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  • उर्तीण कक्षा की मार्कशीट
  • कोचिंग की सुविधा के लिए छात्रावास से प्राप्त की गई रसीद
  • अगर भूमि नही है तो उसका प्रमाण
  • बैंक खाता डिटेल
  • पासपोर्ट फ़ोटो
  • मोबाइल नंबर आदि –

|| मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना | Mukyamantri Sukh Ashray Yojana | मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना का उद्देश्य | Objective of Chief Minister Sukhashray Yojana | मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के अंतर्गत कितना पैसा मिलेगा? | मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के लिए पात्रता | Eligibility for Chief Minister Sukhashray Yojana | मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के लिए जरूरी दस्तावेज | Documents required for Chief Minister Sukh Ashray Yojana | मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना में आवेदन कैसे करें? | How to apply for Chief Minister Sukh Ashray Yojana? ||

ट्रेंडिंग

UPSC Exam || IAS और IPS अधिकारी बनने के लिए कौन सी डिग्री सबसे अच्छी है? जानिए यूपीएससी की तैयारी कैसे करें UPSC Exam || IAS और IPS अधिकारी बनने के लिए कौन सी डिग्री सबसे अच्छी है? जानिए यूपीएससी की तैयारी कैसे करें
हाइलाइट्स देश में आयोजित होने वाली सबसे कठिन परीक्षा की अगर बात करें तो वह हैं I AS और IPS...
Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय
IPS Officer Success Story || IPS पति-पत्नी का अनोखा अंदाज, काम करने का अलग अंदाज, लोग करते हैं तारीफ
Success Story || 42 साल की मां ने अपने 24 साल के बेटे के साथ पास की PCS की परीक्षा, दोनों एक साथ बने अफसर
PPI Card For Public Transport || RBI ने दी बैंको को दी ये मंजूरी, रेल, मेट्रो, बस, पार्किंग पेमेंट होगा आसान
Success Story || 1.5 लाख महीने की सरकारी नौकरी छोड़ बने IAS, जॉब के साथ की तैयारी, UPSC में पाई 8वीं रैंक