बड़ी उपलब्धि: चीन की यूनिवर्सिटी में पढ़ाएगा हिमाचल के किसान का बेटा, बना असिस्टेंट प्रोफेसर

बड़ी उपलब्धि: चीन की यूनिवर्सिटी में पढ़ाएगा हिमाचल के किसान का बेटा, बना असिस्टेंट प्रोफेसर

मंडी: Himachal Pradesh हर दिन शिक्षा में सुधार कर रहा है। यहां पढ़े लिखे युवा आज देश भर में अपनी प्रतिभा दिखा रहे हैं। प्रदेश के युवा भी हर क्षेत्र में महत्वपूर्ण पदों पर आसीन होकर देश को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। हिमाचल की कठिन भौगोलिक परिस्थितियों के बावजूद यहां के […]

मंडी: Himachal Pradesh हर दिन शिक्षा में सुधार कर रहा है। यहां पढ़े लिखे युवा आज देश भर में अपनी प्रतिभा दिखा रहे हैं। प्रदेश के युवा भी हर क्षेत्र में महत्वपूर्ण पदों पर आसीन होकर देश को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। हिमाचल की कठिन भौगोलिक परिस्थितियों के बावजूद यहां के युवा देश विश्व भर में हिमाचल का नाम रौशन कर रहे हैं। ऐसे ही एक युवा ने अपनी प्रतिभा के कारण अब विदेश में नौकरी पाई है।

Chinese University  में हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के 30 वर्षीय युवा का चयन हुआ है। अब हिमाचल प्रदेश का युवा यानी एक Chinese University में विद्यार्थियों को शिक्षित करेगा। यह रोपड़ी गांव युवक मंडी जिले के दुर्गम सराज क्षेत्र की ग्राम पंचायत शिल्हीबागी में है। 30 वर्षीय डॉ. संजय कुमार युवक है। संजय कुमार चीन की यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में काम करेगा।

यह भी पढ़ें ||  Himachal News || विधायक सुधीर के आवास पर हथियारों से लैस क्यूआरटी तैनात

एक छोटे से गांव के रहने वाले संजय के इस चयन से ना सिर्फ उनके माता पिता बल्कि पूरे गांव और क्षेत्र में खुशी का माहौल है। डॉ संजय अब चीन के बच्चों को शिक्षित करेंगे। डॉ संजय कुमार का चयन चीन के शियान स्थित जियोतोंग यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ मेटिरियल साइंस एवं इंजीनियरिंग में हुआ है। हालांकि संजय का चयन जनवरी माह में हो गया था, लेकिन दस्तावेजों की औपचारिकताओं को पूरा करने में समय लग गया। अब डॉ संजय ने चीन की उड़ान भर ली है।

यह भी पढ़ें ||  Himachal Rajya Sabha Election || हिमाचल में क्रॉस वोटिंग की अटकलों ने बढ़ाई कांग्रेस की टेंशन, प्रतिभा सिंह के बयान ने चौंकाया

यह भी पढ़ें: Khan Sir Patna: रक्षाबंधन पर Khan Sir की कलाई में 7000 Rakhi, बना दिया Record

संजय ने बताया कि बचपन से ही उनका सपना था कि वह विदेश जाकर वहां के बच्चों को पढ़ाऊँगा। जो उन्होंने ऑनलाइन आवेदन किया था। डॉ. संजय ने बताया कि उनका चयन चीन की जियोतोंग यूनिवर्सिटी में कई ऑनलाइन इंटरव्यू के बाद हुआ था। उनका कहना था कि वे चार वर्ष के लिए अनुबंध के आधार पर नियुक्त हुए हैं। इस दौरान प्रति वर्ष २५ लाख रुपये का पैकेज मिलेगा।

यह भी पढ़ें ||  Himachal News || हिमाचल में युवक की हत्या कर फरार आरोपी पहुंचा किसान अंदोलन में, पुलिस ने सिरसा से किया गिरफ्तार

डॉ. संजय कुमार मध्यमवर्गीय परिवार से आते हैं। उनके पिता भीमसिंह गांव में रहकर खेती करते हैं। वहीं उनकी माता डोमला देवी घरेलू काम करती हैं। थुनाग स्कूल से डॉ. संजय ने बारहवीं तक पढ़ाई की है। बाद में उन्होंने बासा के डिग्री कॉलेज से डिग्री प्राप्त की। Dr. संजय ने HPU से मास्टर डिग्री हासिल करने के बाद JP University से फिजिक्स में पीएचडी किया। इस दौरान, उन्होंने बतौर शिक्षक भी कई निजी संस्थानों में काम किया। Dr. संजय कुमार ने अपनी सफलता का श्रेय अपने परिवार और शिक्षकों को दिया है। उन्होंने बताया कि उनके परिवार ने हमेशा उनका साथ दिया। हर फैसले में वह उनके साथ रहे। जिसके चलते ही उन्होंने जमकर मेहनत की और अपने सपने का साकार किया।

ट्रेंडिंग

Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय
Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर...
IPS Officer Success Story || IPS पति-पत्नी का अनोखा अंदाज, काम करने का अलग अंदाज, लोग करते हैं तारीफ
Success Story || 42 साल की मां ने अपने 24 साल के बेटे के साथ पास की PCS की परीक्षा, दोनों एक साथ बने अफसर
PPI Card For Public Transport || RBI ने दी बैंको को दी ये मंजूरी, रेल, मेट्रो, बस, पार्किंग पेमेंट होगा आसान
Success Story || 1.5 लाख महीने की सरकारी नौकरी छोड़ बने IAS, जॉब के साथ की तैयारी, UPSC में पाई 8वीं रैंक
kalyanaraman Success Story || कभी कर्ज लेकर शुरू की थी सोने की दुकान, आज खड़ी कर दी 17,000 करोड़ की कल्याण ज्वेलर्स कंपनी