बड़ी उपलिब्ध: गरीब भेड़पालक की बेटी शब्बू बनी Assistant Professor, अब कॉलेज में पढ़ाएगी जूलॉजी, यह है सफलता की कहानी

बड़ी उपलिब्ध: गरीब भेड़पालक की बेटी शब्बू बनी Assistant Professor, अब कॉलेज में पढ़ाएगी जूलॉजी, यह है सफलता की कहानी
Assistant Professor Shabu, कांगड़ा। हिमाचल की बेटियां अब बेटों से आगे निकल रही हैं। ऐसा कोई भी क्षेत्र नहीं बचा है, जिसमें प्रदेश की बेटियों ने अपनी मेहनत से जगह ना बनाई हो। देश की सरहदों की रक्षा की बात हो या बीमार लोगों की सेवा हर क्षेत्र में हिमाचल की बेटियां अपनी सफलता के […]

Assistant Professor Shabu, कांगड़ा। हिमाचल की बेटियां अब बेटों से आगे निकल रही हैं। ऐसा कोई भी क्षेत्र नहीं बचा है, जिसमें प्रदेश की बेटियों ने अपनी मेहनत से जगह ना बनाई हो। देश की सरहदों की रक्षा की बात हो या बीमार लोगों की सेवा हर क्षेत्र में हिमाचल की बेटियां अपनी सफलता के झंडे गाड़ रही हैं।  अभी हाल ही में लोक सेवा आयोग ने Assistant Professor  की परीक्षा का परिणाम घोषित किया है। जिसमें भी प्रदेश की गई बेटियों ने सफलता हासिल की है और Assistant Professor बनी हैं।

जवाली के कुठेड की शब्बू बनी असिस्टेंट प्रोफेसर

हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग (Himachal Pradesh Public Service Commission) ने कांगड़ा जिले के ज्वाली उपमंडल के गांव कुठेड़ की शब्बू पुत्री विजय कुमार को Assistant Professor के पद पर नियुक्त किया है। गांव पूरा खुश है जब शब्बू चुना जाता है। शब्बू की माता जीवना देवी एक गृहिणी है, और पिता विजय कुमार एक भेड़पालक हैं।

यह भी पढ़ें ||  Government Job || 12वीं पास पा सकते हैं ये सरकारी नौकरी, सेलेक्ट हुए तो 60 हजार मिलेगी महीने की सैलरी

शब्बू के पिता हैं भेड़पालक

शब्बू की इस कामयाबी से ना सिर्फ उसके परिवार बल्कि पूरे गांव में खुशी का माहौल है। ग्रामीणों का मानना है कि इस बेटी को देख कर उनकी बेटियों में भी आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलेगी। बता दें कि शब्बू के पिता विजय कुमार भेड़पालक तथा माता जीवना देवी गृहिणी हैं।  

यह भी पढ़ें ||  DA Hike News || हिमाचल के कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, DA की 4 फीसदी किस्त जारी

गांव से पूरी की प्रारंभिक शिक्षा

शब्बू की शिक्षा की बात करें तो उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा अपने गांव के सरकारी स्कूल से पूरी की। उसके बाद शब्बू ने बीएससी और एमएससी की पर्ढ़ा हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला से की है। एमएससी के बाद शब्बू ने जेआरएफ की परीक्षा उतीर्ण की और वर्तमान में शब्बू जम्मू में पीएचडी की पढ़ाई कर रही है। शब्बू ने पढ़ाई में लग्न के साथ मेहनत करते हुए अपने मुकाम को हासिल किया। शब्बू ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता पिता और अपने शिक्षकों को दिया है। उसने बताया कि उसके माता पिता ने पढ़ाई करने और आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। वहीं उसके शिक्षकों ने उसका सही मार्गदर्शन किया, जिसकी बदौलत ही आज उसने यह मुकाम हासिल की है।

यह भी पढ़ें ||  GK Questions || ऐसी कौन सी चीज है, जिसे हम पका तो सकते है लेकिन खा नहीं सकते है?

Focus keyword

ट्रेंडिंग

Anti Hangover Medicine || मार्केट में आ गई है शराबियों के लिए एंटी हैंगओवर Myrkl गोली, लिवर पर नहीं पड़ेगा अब बुरा असर Anti Hangover Medicine || मार्केट में आ गई है शराबियों के लिए एंटी हैंगओवर Myrkl गोली, लिवर पर नहीं पड़ेगा अब बुरा असर
हाइलाइट्समार्केट में आ गई है शराबियों के लिए एंटी हैंगओवर Myrkl गोली60 मिनट के भीतर पी गई 70 प्रतिशत शराब...
UPSC Exam || IAS और IPS अधिकारी बनने के लिए कौन सी डिग्री सबसे अच्छी है? जानिए यूपीएससी की तैयारी कैसे करें
Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय
IPS Officer Success Story || IPS पति-पत्नी का अनोखा अंदाज, काम करने का अलग अंदाज, लोग करते हैं तारीफ
Success Story || 42 साल की मां ने अपने 24 साल के बेटे के साथ पास की PCS की परीक्षा, दोनों एक साथ बने अफसर
PPI Card For Public Transport || RBI ने दी बैंको को दी ये मंजूरी, रेल, मेट्रो, बस, पार्किंग पेमेंट होगा आसान
×