Himachal News || पहाड़ों में बच्चों पर मंडरा रहा मोटापे का खतरा, 56 फीसदी लोग मोटापे के शिकार, ICMR की रिपोर्ट में हुआ तगड़ा खुलासा

Himachal News || पहाड़ों में बच्चों पर मंडरा रहा मोटापे का खतरा, 56 फीसदी लोग मोटापे के शिकार, ICMR की रिपोर्ट में हुआ तगड़ा खुलासा
Himachal News || हिमाचल प्रदेश में भी मोटापा तेजी से बढ़ने लगा है। खानपान और शारीरिक व्यायाम की कमी इसका मुख्य कारण है। यही नहीं, अधिकांश बच्चे मोटा होने लगे हैं। बच्चों में मोटापे का सबसे बड़ा कारण जंक फूड खाना और अधिक टीवी देखना है। हिमाचल प्रदेश में मोटापे की स्थिति को लेकर आईजीएमसी […]

Himachal News || हिमाचल प्रदेश में भी मोटापा तेजी से बढ़ने लगा है। खानपान और शारीरिक व्यायाम की कमी इसका मुख्य कारण है। यही नहीं, अधिकांश बच्चे मोटा होने लगे हैं। बच्चों में मोटापे का सबसे बड़ा कारण जंक फूड खाना और अधिक टीवी देखना है। हिमाचल प्रदेश में मोटापे की स्थिति को लेकर आईजीएमसी अस्पताल में मेडिसिन विभाग में एचओडी डॉ. बलवीर वर्मा ने बताया कि मोटापा अब शहर से गांव की ओर बढ़ने लगा है। इसका कारण लोगों की खान-पान में बदलाव और शारीरिक गतिविधि में कमी है। गांव में लोग काम करते थे और पीठ पर बोझ ढोते थे। वह इससे पूरी तरह फिट रहते थे, लेकिन आज गाड़ियां हैं। लोग बस गाड़ी में अपना सामान लेकर आते हैं। गांव में सड़क भी बन गई है। अब लोग खेतों का सामान भी गाड़ी में ढोते हैं। ऐसे में फिजिकल एक्टिविटीज में कमी से मोटापा बढ़ने लगा है।

10 से 12 साल के बच्चे मोटापे का शिकार

हिमाचल में 10 से 12 साल तक के बच्चों में भी मोटापा देखने को मिल रहा है. डॉ. बलवीर वर्मा ने बताया कि 40 से 50 साल के कई वृद्ध अभी भी फिट हैं जो नियमित व्यायाम करते हैं और फिजिकल एक्टिविटीज करते रहते हैं, लेकिन बच्चे मानो खेलना बिलकुल भूल ही गए हैं. जंक फूड, मोबाइल का ज्यादा इस्तेमाल, टीवी अधिक समय तक देखना और टीवी देखते-देखते जंक फूड खाना यह मोटापे का कारण बन रहा है. 12 साल के बच्चों में भी कोलेस्ट्रॉल होने लगा है, जो चिंता का विषय है.

यह भी पढ़ें ||  HP IPH Recruitment 2024 || हिमाचल जल शक्ति विभाग में इन पदों पर निकली भर्ती, इस दिन से पहले करें ऑनलाईन आवेदन

उन्होंने कहा कि बेकरी प्रोडक्ट लगातार खाना नुकसान देय है. यह मोटापे का एक मुख्य कारण है. हिमाचल प्रदेश के लोगों की खराब लाइफ स्टाइल और आरामपूर्ण जीवनशैली ने उनका वजन अप्रत्याशित रूप से बढ़ा दिया है और वे एब्डोमिनल ओबेसिटी, यानी कई रोगों का कारण बनने वाले पेट के माटापे की चपेट में आ गए हैं। हिमाचल प्रदेश के लगभग 60% लोगों ने इस घातक पेट का माटा पाया है। देश के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों की तुलना में पेट का माटापा कहीं अधिक है।

यह भी पढ़ें ||  Himachal Weather Update || बारिश-बर्फबारी का रेड अलर्ट, पांगी में 1 फीट ताजा हिमपात, शिक्षण संस्थानों में छुट्टी घो​षित

कैसे करें मोटापे से बचाव?

इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभाग के जुड़े डॉ. बलवीर वर्मा का कहना है कि मोटापे से बचाव के लिए जीवन शैली में बदलाव लाना बेहद जरूरी है. आज हम लोग आराम की जिंदगी जीना पसंद कर रहे हैं, जबकि शरीर को स्वस्थ रखने के लिए व्यायाम बेहद जरूरी है. इसके अलावा ज्यादा से ज्यादा फिजिकल एक्टिविटी करना शरीर के लिए जरूरी माना जाता है.

यह भी पढ़ें ||  Himachal News || गरीब के घर से धुंआ उठते ही मची चीख पुकार, 4 साल के मासूम की दम घुटने से मौत

Focus keyword

ट्रेंडिंग

Anti Hangover Medicine || मार्केट में आ गई है शराबियों के लिए एंटी हैंगओवर Myrkl गोली, लिवर पर नहीं पड़ेगा अब बुरा असर Anti Hangover Medicine || मार्केट में आ गई है शराबियों के लिए एंटी हैंगओवर Myrkl गोली, लिवर पर नहीं पड़ेगा अब बुरा असर
हाइलाइट्समार्केट में आ गई है शराबियों के लिए एंटी हैंगओवर Myrkl गोली60 मिनट के भीतर पी गई 70 प्रतिशत शराब...
UPSC Exam || IAS और IPS अधिकारी बनने के लिए कौन सी डिग्री सबसे अच्छी है? जानिए यूपीएससी की तैयारी कैसे करें
Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय
IPS Officer Success Story || IPS पति-पत्नी का अनोखा अंदाज, काम करने का अलग अंदाज, लोग करते हैं तारीफ
Success Story || 42 साल की मां ने अपने 24 साल के बेटे के साथ पास की PCS की परीक्षा, दोनों एक साथ बने अफसर
PPI Card For Public Transport || RBI ने दी बैंको को दी ये मंजूरी, रेल, मेट्रो, बस, पार्किंग पेमेंट होगा आसान