SBI vs HDFC bank || ₹5 लाख की FD पर 5 साल में कहां ज्‍यादा फायदा? यहां जाने पूरी डिटेल

SBI vs HDFC bank ||  ₹5 लाख की FD पर 5 साल में कहां ज्‍यादा फायदा? यहां जाने पूरी डिटेल
SBI vs HDFC bank || Image credits ।। cenva

SBI vs HDFC bank ||   देश में लोकप्रिय निवेश के लिए बैंकों की टर्म डिपॉजिट या fixed deposit (TDs/FDs) एक विकल्प हैं। इनमें डिपॉजिटर को बाजार का कोई जोखिम नहीं होता है और एक निश्चित अवधि के बाद ब्याज के साथ फिक्सड इनकम मिलती है।

SBI vs HDFC bank ||   देश में लोकप्रिय निवेश के लिए बैंकों की टर्म डिपॉजिट या fixed deposit (TDs/FDs) एक विकल्प हैं। इनमें डिपॉजिटर को बाजार का कोई जोखिम नहीं होता है और एक निश्चित अवधि के बाद ब्याज के साथ फिक्सड इनकम मिलती है। भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और HDFC Bank, दो बड़े सरकारी और निजी क्षेत्रों के बैंक हैं, जो 5 साल के लिए 5 लाख रुपये की एफडी पर रेगुलर और सीनियर सिटीजन को सबसे अधिक लाभ मिलेगा।  5 साल की FD पर SBI रेगुलर कस्टमर को प्रति वर्ष 6.5 फीसदी ब्याज मिलता है। 

SBI FD Calculator के अनुसार, अगर रेगुलर कस्टमर 5 लाख रुपये की FD करता है, तो मैच्योरिटी पर 6,90,209 रुपये मिलेंगे। यानी, ब्याज से 1,90,209 रुपये मिलेंगे। सीनियर सिटीजन ने 5 लाख रुपये जमा करने पर संस्थान को 7,24,974 रुपये मिलेंगे। ब् याज से 2,24,974 रुपये की गारंटीड आय मिलेगी। 

2024 में HDFC Bank FD दरें

HDFC बैंक रेगुलर कस् टमर को 5 साल की FD पर प्रति वर्ष 7 फीसदी ब्याज मिलता है। यह दरें सीनियर शहरवासियों के लिए 7.5% हैं। 9 फरवरी 2024 से, 2 करोड़ रुपये से कम के जमा पर ये ब्याज दरें लागू होंगी।  अगर रेगुलर कस् टमर 5 लाख रुपये की FD करता है, तो मैच् योरिटी पर 7,07,389 रुपये मिलेंगे, HDFC FD Calculator बताता है। यानी ब्याज से 2,07,389 रुपये मिलेंगे। सीनियर सिटीजन ने 5 लाख रुपये जमा करने पर संस्थान को 7,24,974 रुपये मिलेंगे। इसमें ब्याज से 2,24,974 लाख रुपये की निश्चित आय होगी।

Tax Gains: 1.5 लाख तक की बचत 

किसी भी बैंक में 5 साल की FD करने पर 80C में टैक्स डिफेक्ट का लाभ मिलता है। फाइनेंशियल वर्ष में किसी भी निवेश पर अधिकतम 1.50 लाख रुपये तक टैक्स डिडक्शन मिल सकता है। यह 5 साल के लिए बंद है। यह समय दस वर्ष तक बढ़ सकता है। FD से मिलने वाला ब्याज, हालांकि, इनकम टैक्स नियम के अनुसार कर योग्य है। TDS (टैक्स डिडक्शन एट सोर्स) कटता है अगर FD/TD पर एक वर्ष में मिलने वाला ब् याज 40,000 रुपये से अधिक है। 50,000 रुपये सीनियर सिटीजंस की सीमा है। यदि किसी व्यक्ति की आय टैक्सेबल लिमिट से कम है, तो उसे फॉर्म 15G और 15H भरना होगा और बैंक को FD/TD पर कर TDS कटौती न करने की रिक्वेस्ट देनी होगी।  Form 15G उन लोगों के लिए है जो 60 साल से कम हैं। 60 साल तक टैक्स छूट की सीमा 2.5 लाख रुपये है। विपरीत, फॉर्म 15H 60 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए है। 

यह भी पढ़ें ||  Government Scheme || PM मोदी की तरह आप भी कर सकते हैं NSC स्कीम में निवेश, 2 साल तक निवेश करने पर मिलेंगे 5 लाख