Himachal Weather Red Alart || दो दिनों तक बंद हुए शैक्षणिक संस्थान, हिमाचल में फूलों की तरह बरस रही बर्फ,

चम्बा जिला के पांगी और किनौर में भी भारी बर्फबारी का क्रम है जारी
Himachal Weather Red Alart || दो दिनों तक बंद हुए शैक्षणिक संस्थान, हिमाचल में फूलों की तरह बरस रही बर्फ,

Himachal Weather Red Alart || प्रदेश मौसम विभाग के रेड अलर्ट के बीच हिमाचल प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी बर्फबारी दर्ज की गई है। लाहौल-स्पीति, कुल्लू व किन्नौर, चम्बा जिले के ऊपरी क्षेत्र बर्फ से लद गए हैं।  जनजातीय

Himachal Weather Red Alart ||  प्रदेश मौसम विभाग के रेड अलर्ट (red Alart ) के बीच हिमाचल प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों ( high altitude) में भारी बर्फबारी ( snowfall) दर्ज की गई है। लाहौल-स्पीति, कुल्लू व किन्नौर, चम्बा जिले के ऊपरी क्षेत्र बर्फ से लद गए हैं।  जनजातीय जिले (tribal district) लाहौल-स्पीति में दो दिनों से हो रही ताजा बर्फबारी को देखते हुए जिले में शैक्षणिक संस्थान (educational institutions) दो दिनों तक बंद रहेंगे। उधर चम्बा जिला के पांगी घाटी में एक फुट से अधिक बर्फ़बारी हो चुकी है और बर्फबारी के क्रम अभी जारी है।

उपायुक्त ( DC) लाहौल-स्पीति राहुल कुमार ने आदेश ( order) जारी करते हुए बताया कि जिले में हो रही भारी बर्फबारी को आशंका को देखते हुए उपमंडल केलांग तथा उदयपुर के सभी शैक्षणिक संस्थानों को 20 और 21 फरवरी को बंद रखने का निर्णय ( dicision) लिया गया है। उपायुक्त ने कहा कि कई इलाकों में हिमखंड खिसकने का खतरा बना हुआ है। जिस कारण जिला प्रशासन ने यह निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि लाहौल घाटी में अभी तक एक से दो फुट तक बर्फ गिर चुकी है और बर्फबारी लगातार जारी है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि बर्फबारी के दौरान अपने घरों में ही रहें अनावश्यक यात्रा ( unnecessary travel) न करें। घाटी में बिजली, पानी और यातायात व्यवस्था ( travel) को सुचारू रखने के संबंधित विभागों को दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। साथ ही सीमा सड़क संगठन के मेजर रवि शंकर ने बताया कि स्तींगरी से तांदी जीरो प्वाइंट तक सड़क बहाल कर दी गई है।

भारी बर्फबारी के कारण धुंधी क्षेत्र में सड़क की स्थिति किसी भी प्रकार के वाहनों के लिए उपयुक्त नहीं है। इसलिए पर्यटकों और स्थानीय लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए आगामी आदेशों तक सोलंग बैरियर ( solang berier) से अटल टनल रोहतांग ( atal tanal rohtang)की ओर सभी प्रकार के वाहनों की आवाजाही प्रतिबंधित कर दी गई है। मनाली में बर्फबारी के बीच ट्रैफिक जाम ने पर्यटकों की दिक्कतें बढ़ा दी हैं। नेहरूकुंड, पलचान और सोलंगनाला में पर्यटकों की भीड़ जुटने से जाम लग गया। इससे पुलिस की भी दिक्कतें बढ़ गईं। अतिरिक्त जवानों की तैनाती के बाद जाम लगने से लोगों और पर्यटकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

  • Exploring Snowfall Locations in Himachal Pradesh
  • Planning a Winter Trip to Himachal Pradesh
  • Capturing Snowfall Moments in Himachal Pradesh
  •  Navigating Snowy Roads in Himachal Pradesh
  • Staying Safe During Snowfall in Himachal Prades

किन्नौर जिले के ऊपरी इलाकों में भी बर्फबारी हुई है। काजा में भी बर्फबारी हुई है। इससे शीतलहर बढ़ गई है। शिमला में भी मौसम खराब बना हुआ है। शहर में तेज ठंडी हवाएं ( cold wave ) चलने से लोगों को ठिठुरन का सामना करना पड़ रहा है। इसके साथ ही कांगड़ा जिला की धौलाधार की पहाडीयों ( mountain) पर जमकर बर्फबारी हो रही है और बर्फ इस समय मैक्लोडगंज और डल झील के नजदीक तक पहुंचने वाली है। लागातार हो रही बर्फ़बारी से जिला में ठंड का प्रकोप बढ़ गया है।

यह भी पढ़ें ||  Monsoon Update || इस दिन मानसून देगा दस्‍तक, अगले 48 घंटे इन राज्यों में मूसलाधार बारिश

Questions:

  •  Where in Himachal Pradesh has snowfall occurred?
  • How can I track snowfall locations in Himachal Pradesh?
  • What are the best ways to travel during snowfall in Himachal Pradesh?
  • Are there any precautions to take during snowfall in Himachal Pradesh?
  • Which Himachal Pradesh regions are known for heavy snowfall?

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के अनुसार आज प्रदेश के कई भागों में भारी से बहुत भारी बारिश-बर्फबारी, 40-50 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलने ( wave) का रेड अलर्ट ( red Alart) है। हालांकि, शिमला सहित अन्य निचले भागों में अभी तक इस अलर्ट का असर देखने को नहीं मिला है। वहीं, 20 फरवरी के लिए ऑरेंज अलर्ट और 21 के लिए अंधड़ व बिजली चमकने (thundering) का येलो अलर्ट (yellow alart) जारी हुआ है। 22 फरवरी को भी प्रदेश में बारिश-बर्फबारी का पूर्वानुमान है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला से मिल रहे मौसम पूर्व अनुमान के अनुसार आप भी अपना शेड्यूल ( schedule) बनाएं। अगर आप कहीं घूमने जाने का मन बना रहे हैं तो फिलहाल आपको मौसम के मिजाज को देखकर योजना बनानी होगी।

यह भी पढ़ें ||  RBI Action || नियमों का उल्लंघन करने पर RBI ने इस बैंक पर लिया बड़ा एक्शन, ग्राहकों को लगा बड़ा झटका