साल में सिर्फ 1 एक दिन के लिए खुलते है इस मंदिर के कपाट, पूरी दुनिया में एक मात्र है यह प्रतिमा ।। Nagchandreshwar Temple of Ujjain

साल में सिर्फ 1 एक दिन के लिए खुलते है इस मंदिर के कपाट, पूरी दुनिया में एक मात्र है यह प्रतिमा ।। Nagchandreshwar Temple of Ujjain

Nagchandreshwar Temple of Ujjain: साल में सिर्फ 1 एक दिन के लिए खुलते है इस मंदिर के कपाट, पूरी दुनिया में एक मात्र है यह प्रतिमा
पत्रिका एजैंसी: साल में सिर्फ 1 एक दिन के लिए खुलते है इस मंदिर के कपाट, पूरी दुनिया में एक मात्र है यह प्रतिमा। आज नागपंचमी है सुबह से ही सभी मंदिरो में भक्तो का ताता लगा है. दिक पंचांग के अनुसार, हर साल श्रावण मास के कृष्ण एवं शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि के दिन नाग पंचमी पर्व मनाया जाता है। इस वर्ष के सावन माह की शुक्ल पक्ष की पंचमी 21 अगस्त को मनाई जा रही है। ऐसे में नाग देवता की पूजा करने से साधक के सभी कष्ट दूर होते हैं। इस शुभ अवसर पर वर्ष में केवल एक दिन खुलने वाले नागचंद्रेश्वर मंदिर में नाग देवता के दर्शनों से साधक को शुभ फलों की प्राप्ति होती है। तो चलिए आज एक ऐसे मंदिर के बारे में बताते है जो सिर्फ साल में एक बार नाग पंचमी के दिन खुलता है.

नागचंद्रेश्वर मंदिर में 11वीं शताब्दी की एक अद्भुत प्रतिमा
आपको बता दे की ऐसी मान्यता है कि नागराज तक्षक स्वयं मंदिर में रहते हैं। नागचंद्रेश्वर मंदिर में 11वीं शताब्दी की एक अद्भुत प्रतिमा है, इसमें फन फैलाए नाग के आसन पर शिव-पार्वती बैठे हैं। कहते हैं यह प्रतिमा पूरी दुनिया में यह एकमात्र ऐसा मंदिर है, जिसमें विष्णु भगवान की जगह भगवान भोलेनाथ सर्प शय्या पर विराजमान हैं। नागपंचमी पर भगवान नागचंद्रेश्वर की त्रिकाल पूजा का विधान है। बता दे की उज्जैन स्थित नागचंद्रेश्वर का, जो की उज्जैन के प्रसिद्ध महाकाल मंदिर की तीसरी मंजिल पर स्थित है। 

मंदिर साल में सिर्फ एक दिन नागपंचमी पर ही दर्शनों के लिए खोला जाता
इसकी खास बात यह है कि यह मंदिर साल में सिर्फ एक दिन नागपंचमी ( श्रावण शुक्ल पंचमी) पर ही दर्शनों के लिए खोला जाता है। इस वर्ष नाग पंचमी के अवसर पर 20 अगस्त की रात 12 बजे मंदिर के शीर्ष पर स्थित भगवान नागचंद्रेश्वर मंदिर के पट खुलेंगे। मंदिर में दर्शन का सिलसिला 24 घंटों तक चलता रहेगा। भक्तगण 21 अगस्त की मध्यरात्रि 12 बजे तक इस मंदिर के दर्शन कर सकेंगे। पहली पूजा 20 अगस्त की रात 12 बजे मंदिर के पट खुलने पर की जाएगी। दूसरी पूजा 21 अगस्त को दोपहर 12 बजे शासन की ओर से की जाएगी और तीसरी पूजा 21 अगस्त की शाम भगवान महाकाल की संध्या आरती संपन्न होने के बाद महाकाल के पुजारी व मंदिर के अधिकारियों द्वारा की जाएगी।

सुपर स्टोरी

UPI Payment users || यूपीआई पेमेंट करने पर लगेगा चार्ज सामने आई  बड़ी खबर जानिए पूरी डिटेल UPI Payment users || यूपीआई पेमेंट करने पर लगेगा चार्ज सामने आई बड़ी खबर जानिए पूरी डिटेल
  देश में यूपीआई पेमेंट यूजर्स की संख्या हर रोज बढ़ती जा रही है। इसी बात से अंदाजा लगाया जा
Motivational || देवी चित्रलेखा जी: 6 वर्ष की उम्र से शुरू किया धार्मिक कथावाचन, आज देश के लिए बन चुकी हैं प्रेरणा
IPS Anshika Verma || बला की खूबसूरत हैं यूपी कैडर की यह IPS, बिना कोचिंग क्रैक किया था UPSC
Devi Chitralekha || देवी चित्रलेखा की 20 साल की उम्र में हुई थी शादी, जानें कथावाचिका के पति क्या करते
HDFC Bank Net Banking Update || HDFC Bank के ग्राहकों के लिए नया अपड़ेट, इतने वक्त तक Net Banking से लेकर UPI तक कुछ नहीं चलेगा
Dr Ganesh Baraiya || तीन फुट के डॉक्टर साब, जब करने पहुंचे इलाज तो चकरा गया मरीजों का दिमाग
Success Story || दर्जी की बिटिया ने छू लिया 'आसमान', गरीबी से उठकर बनी जज
Bank Off Baroda Good News || बैंक ऑफ बड़ौदा के धारकों के लिए बड़ी खुशखबरी! बैंक ने कर दिया बड़ा काम
Driving Licence New Rules || 1 जून से लागू होंगे नए नियम, हो जाएं सावधान वरना देना होगा 25 हजार का जुर्माना
Credit Card का करते हैं इस्तेमाल तो भूलकर भी न करें ये गलती, क्रेडिट स्कोर हो जाएगा खराब