PM Vishwakarma Yojana :पीएम मोदी ने किया विश्वकर्मा योजना का शुभारंभ ! जानिए किन लोगों को मिलेगा फायदा, ऐसे करें अप्लाई

PM Vishwakarma Yojana Registration

PM Vishwakarma Yojana: देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर पारंपरिक कलाकारों और शिल्पकारों के लिए PM Vishwakarma योजना का शुभारंभ किया हुआ है।प्रधानमंत्री मोदी ने इस योजना को बीते दिन अपने जम्मदिन के अवसर पर शुरू किया हुआ है। केंद सरकार इस अवसर पर पीएम विश्वकर्मा योजना का पुरस्कार देने जा रही है। दरअसल, केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2022–2023 के बजट सत्र में Pm Vishwakarma Yojana 2023 की घोषणा की थी। प्रधानमंत्री मोदी ने इस साल स्वतंत्रता दिवस पर भी इस योजना का ऐलान किया था। सरकार ने इस योजना पर 13 हजार करोड़ रुपये खर्च किए हैं। साथ ही, इस योजना के लाभार्थी को एडवांस ट्रेनिंग मिलेगी।

WhatsApp Group Join Now

जानिए क्या है PM Vishwakarma Yojana?

लोगों को PMV योजना के तहत 1 लाख रुपये पहली किश्त और 2 लाख रुपये दूसरी किश्त के तौर पर लोन दिया जाएगा, जिसमें 5 फीसदी की ब्याज दर लागू होगी। इसके अलावा, कारीगरों को आधारभूत और अतिरिक्त ट्रेनिंग भी दी जाएगी। योजना के लाभार्थियों को भी 15,000 रुपये का टूलकिट मिलेगा। लाभार्थियों को स्किल ट्रेनिंग भी दी जाएगी। इस दौरान प्रतिदिन पांच सौ रुपये मिलेंगे।

योजना का लाभ किसे मिलेगा?
PMV योजना का उद्देश्य हाथों और औजारों से काम करने वाले कारीगरों की क्षमता को बढ़ाना है। इस योजना का दूसरा लक्ष्य कामगारों के उत्पादों को देश भर में बेचना है। इस योजना के तहत कलाकारों के परिवार के किसी एक सदस्य को शामिल किया जाएगा। 18 प्रकार के पारंपरिक कर्मचारी इस योजना में शामिल हैं। जिन्हें सरकार सिर्फ 5% की ब्याज दर पर कर्ज देगी। योजना से 30 लाख से अधिक कर्मचारियों को आगे बढ़ने का अवसर मिलेगा।

विश्वकर्मा योजना कब शुरू हुई:
सरकार ने पारंपरिक कामगारों को सस्ती दरों पर आर्थिक सहायता देने वाली इस योजना को तैयार करना शुरू कर दिया है। 16 अगस्त को केंद्रीय केबिनेट ने इस योजना को मंजूरी दी है। योजना 17 सितंबर विश्वकर्मा जयंती के दिन शुरू की गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद इस योजना की शुरुआत इस मौके पर एक खास कार्यक्रम में किया गया।

दो लाख रुपये का दूसरे चरण में लोन:
सरकार ने इस योजना को दो भागों में विभाजित किया है। इस योजना के दूसरे चरण में 2 लाख रूपये का रियायती लोन प्रदान किया जाएगा जब इन कर्मचारियों को व्यवसाय को शुरू करने और विस्तार करने के लिए धन की आवश्यकता होगी। PMV योजना के तहत कारीगरों, शिल्पकारों को PMV प्रमाणपत्र, मान्यता पत्र और पहचान पत्र मिलेंगे। इस योजना का उद्देश्य कारीगरों को डिजिटल लेनदेन में प्रोत्साहन देना होगा और उनका बाजार सहयोग करना होगा।

यह भी पढ़ें:Agriculture Sector in India: मोदी सरकार ने किसानों के लिए उठाया बड़ा कदम, अब लॉन्च कर दिया ये पोर्टल

आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज:
मतदाता पहचान पत्र, व्यवसाय का प्रमाण पत्र, मोबाइल नंबर, बैंक खाता नंबर, आय का प्रमाण पत्र, जाति का प्रमाण पत्र

योजना का लाभ इन लोगों को मिलेगा: pm vishwakarma yojana login

PM Vishwakarma योजना से लोहार, ताला, कारपेंटर, नाव, अस्त्र, हथौड़ा और टूलकिट बनाने वाले, सुनार, कुम्हार, मूर्तिकार, मोची, राज मिस्त्री, डलिया, चटाई, झाड़ू और मछली का जाल बनाने वाले लोगों को लाभ मिलेगा। इन 18 पारंपरिक व्यवसायों को इस योजना में शामिल किया गया है। भारत में ग्रामीण और शहरी कलाकारों को सहायता मिलेगी।

पी.एम विश्वकर्मा योजना ऑनलाइन आवेदन शु्रु, मिलेगा 15000

पी.एम विश्वकर्मा योजना ऑनलाइन आवेदन शु्रु, मिलेगा 15000

PM Vishwakarma Yojana Registration
इस योजना के लिए विश्वकर्माओं को मुफ्त रजिस्ट्रेशन के लिए कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) के माध्यम से बायोमेट्रिक आधारित पीएम विश्वकर्मा पोर्टल का उपयोग किया जाएगा। इस योजना से जो लोग लाभान्वित होंगे सरकार उन्हें सर्टिफिकेट और आईडी भी देगी।

×