हमारी टीम

विज्ञापन

हम अपने न्यूजरूम में विविधताओं का पूरा सम्मान करते हैं। हमारी टीम लिंग, उम्र, कौशल और यहां तक कि धार्मिक मान्यताओं के मामले में विविधता से भरी हुई है।

विरेन्द्र राणा (वीरू राणा)

एडिटर इन चीफ
विरेन्द्र राणा उर्फ (वीरू राणा) वरिष्ठ पत्रकार हैं। इन्हें मीडिया में 8 वर्षों से अधिक समय तक काम करने का अनुभव है। प्रिंट और डिजिटल मीडिया के क्षेत्र में इन्हें एक लंबा अनुभव है। वर्तमान में वे पत्रिका न्यूज हिमाचल के डिजिटल न्यूज मीडिया के एडिटर-इन-चीफ और वाइस प्रेसिडेंट हैं। और इनकी पत्रिकारिता महाराष्ट्र से शुरू हुई है जहां पर यह सर्वप्रथम एक प्रिंट मीडिया में नागपुर शहर में काम करते थे और उसके बाद हिमाचल प्रदेश के जिला चंबा में राजकीय वारिष्ठ माध्यमिक पाठशाला साच पांगी के छात्र रहें है। और यह आॅनलाइन मीडिया के लिए कंटेंट की रणनीति तय करने से लेकर उसे अंतिम रूप देने तक हर कार्य में निपुण हैं। गूगल न्यूज इनीशिएटिव द्वारा सर्टिफाइड पत्रिका न्यूज हिमाचल और न्यूज वेरिफिकेशन एक्सपर्ट हैं। और अंत में खबर की पुष्टि करने का काम करते है। इनके बिना पत्रिका न्यूज हिमाचल न्यूज मीडिया पर कोई भी खबर प्रकाशित नहीं की जाती है।  प्वाइंटर यूनिवर्सिटी द्वारा फेक न्यूज़ पर ऑनलाइन शॉर्ट टर्म कोर्स भी इन्होंने किया है। फैक्ट चेकिंग और न्यूज़ वेरिफिकेशन पोर्टल पत्रिका न्यूज हिमाचल को मूर्त रूप देने वाले प्रमुख लोगों में से हैं।

नवनीत मिश्र(प्रत्यूष)

सीनियर एडिटर
पत्रिका न्यूज हिमाचल मीडिया में सीनियर एडिटर (न्‍यूज) नवनीत मिश्र(प्रत्यूष) डिजिटल मीडिया में 15 साल से अधिक और मीडिया में 17 साल से अधिक से कार्यरत हैं। डिजिटल कंटेंट मैनेजमेंट, न्‍यूज रूम और एडिटोरियल प्रोसेस मैनेजमेंट, क्रॉस-फंक्‍शनल टीम लीडरशिप, विशद लेखन, संपादन, सर्ज इंजन, सोशल मीडिया आॅप्‍टीमाइजेशन, वीडियो की आॅर्गेनिक ग्रोथ, यूट्यूब जैसे क्षेत्रों में उनकी विशेषज्ञता है। पत्रिका न्यूज हिमाचल से पहले उन्‍होंने प्रमुख मीडिया संस्‍थानों में काम किया है। प्रत्‍युष गूगल के सर्टिफाइड फैक्‍ट-चेक ट्रेनर होने के साथ ही गूगल न्‍यूज इंनीशिएटिव ट्रेनिंग वर्कशॉप में ट्रेनर की भूमिका भी निभाते हैं। उन्‍होंने गुगल के भी कई वर्कशॉप में हिस्‍सा लिया है।

डॉ. हरीश शर्मा
समाचार संपादक
डॉ. हरीश शर्मा पत्रिका न्यूज हिमाचल के आॅनलाइन पोर्टल में सोशल मीडिया मैनेजर हैं। इन्हें काफी अनुभव है। साथ में इन्हें जनजातीय क्षेत्रों के किसानों का मसीहा भी कहा जाता है।

विज्ञापन
वायरल न्यूज़
फिल्मी दुनियां
आम-मुद्दा
हमारी टीम
Back to top button
Snow