UPSC Success Story || बेटी ने पूरा किया पिता का सपना ! डॉक्टरी छोड़ की UPSC की तैयारी, पांचवीं बार में मिली सफलता

UPSC Success Story || बेटी ने पूरा किया पिता का सपना ! डॉक्टरी छोड़ की UPSC की तैयारी, पांचवीं बार में मिली सफलता

UPSC Success Story|| यूपीएससी परीक्षा (upsc exam) देश में सफल होने वाली सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है। हर साल लाखों उम्मीदवार आईएएस अधिकारी बनने के लिए इस परीक्षा में अपनी किस्मत और मेहनत दोनों आजमाते हैं। यह परीक्षा किसी को बहुत कुछ सिखाती है अगर वह सफल होती है। इन्हीं उम्मीदवारों में से कुछ एक से अधिक बार इस परीक्षा में सफल होते हैं। आज हम IAS अधिकारी मुद्रा गैरोला (IAS officer Mudra Gairola) पर चर्चा कर रहे हैं। जो पहले आईपीएस अधिकारी थीं, फिर आईएएस अधिकारी बनीं।

आईपीएस डॉ. किरण बेदी ने दी थी बधाई ||UPSC Success Story||

“मुझे आज भी वो पल याद है जब आईपीएस डॉ. किरण बेदी ने मुस्कुराते हुए मुझे बधाई दी थी,” मुद्रा ने अपने इंस्टाग्राम पेज पर एक तस्वीर शेयर करते हुए लिखा। मैं स्कूल में रहते हुए भी नहीं जानता था कि मैं एक दिन इतनी भाग्यशाली हो जाऊंगा कि पहले IPS और फिर IAS बनूँगा। हम कभी नहीं जानते कि नियति क्या चाहती है। वहीं हमें अपने लक्ष्य के लिए चुपचाप संघर्ष करते रहना चाहिए, क्योंकि वह निश्चित रूप से एक दिन पूरा होगा। IAS अधिकारी मुद्रा गैरोला उत्तराखंड के कर्णप्रयाग जिले में रहते हैं। स्कूल के दिनों से ही वह एक खूबसूरत छात्रा थीं। 10 वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में 96% और 12 वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में 97% मार्क्स हासिल किए गए। इसलिए किरण बेदी, भारत की पहली महिला आईपीएस अधिकारी, ने उन्हें स्कूल में सम्मानित किया।

दरअसल मुद्रा गैरोला मेडिकल के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहती थी। स्कूल खत्म होने के बाद उन्होंने बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी कोर्स (BDS) में एडमिशन लिया। इस कोर्स के दौरान  उन्हें गोल्ड मेडल भी मिला था।

मुद्रा गैरोला ने पूरा किया सपना पिता का सपना ||UPSC Success Story||

पिता ने बेटी को IAS अधिकारी बनना चाहा क्योंकि वह शुरू से ही पढ़ाई में अच्छी थी। वह चाहते थे कि उनकी बेटी उनका सपना पूरा करे। ये 1973 की बात है, जब मुद्रा के पिता आईएएस अधिकारी बनने के लिए यूपीएससी की परीक्षा देते थे। उस वक्त वह इस परीक्षा में असफल रहे। बाद में वह चाहते थे कि घर में एक IAS अधिकारी होना चाहिए था। मुद्रा पहले से ही पिता की इच्छा जानती थी। वहीं, पिता का सपना पूरा करने के लिए धन ने यूपीएससी चुना।

यह भी पढ़ें ||  UPI Payment users || यूपीआई पेमेंट करने पर लगेगा चार्ज सामने आई बड़ी खबर जानिए पूरी डिटेल

IAS मुद्रा ने 5 बार दी यूपीएससी की परीक्षा ||UPSC Success Story||

वह मुद्रा ग्रेजुएशन करने के बाद दिल्ली आ गईं और एमडीएस में दाखिला लिया, लेकिन बीच में ही उन्होंने यूपीएससी की तैयारी करने के लिए कोर्स छोड़ दिया। यूपीएससी परीक्षा की तैयारी इसके बाद शुरू हुई। मुद्रा गैरोला ने 2018 में यूपीएससी सिविल सर्विसेज की परीक्षा दी। जिसमें उन्होंने प्रारंभिक परीक्षा पास की, लेकिन अंतिम परीक्षा पास नहीं कर सकीं। मुद्रा ने हार नहीं मानी और साल 2019 में दोबारा यूपीएससी परीक्षा दी। इस बार भी उनका प्रीलिम्स और मेन्स क्लियर हो गया था, लेकिन इंटरव्यू राउंड में असफल रही। मुद्रा ने अपने हौसलों को बुलंद किया और तीसरी बार परीक्षा में शामिल होने का फैसला किया। साल 2020 में तीसरी बार यूपीएससी की परीक्षा दी। इस बार वह मेन्स क्लियर नहीं कर पाई।

यह भी पढ़ें ||  G-7 Summit || पीएम मोदी इटली से स्वदेश रवाना हुए, आउटरीच सेशन में टेक्नोलॉजी और AI पर दिया जोर

UPSC Success Story || बेटी ने पूरा किया पिता का सपना ! डॉक्टरी छोड़ की UPSC की तैयारी, पांचवीं बार में मिली सफलता
UPSC Success Story || बेटी ने पूरा किया पिता का सपना ! डॉक्टरी छोड़ की UPSC की तैयारी, पांचवीं बार में मिली सफलता

मुद्रा को पता था कि यूपीएससी परीक्षा लोहे के चने चबाने की तरह है। इसके बाद, उन्होंने चौथी बार यूपीएससी की परीक्षा दी। वह 2021 में परीक्षा में शामिल हुईं और प्रीलिम्स, मेन्स और इंटरव्यू जीतीं।उन्होंने 2021 UPSC में 165वीं रैंक हासिल की थी। जिसमें वह आईपीएस पद पर चुनी गईं।

यह भी पढ़ें ||  Motivational || सुनील छेत्री, भारत के फुटबॉल स्टार ने लिया संन्यास, संघर्षों से जीतकर हासिल की ये सफलता

पांचवीं बार में मिली सफलता : ||UPSC Success Story||

उसने अपने पिता के सपने को पूरा करने के लिए यूपीएससी चुना। जो अपनी बेटी को IAS अधिकारी बनाना चाहते थे। वह अपने पिता का सपना IAS अधिकारी बनने के लिए पांचवीं बार यूपीएससी परीक्षा में शामिल हुईं और 53 रैंक हासिल किए। पिता का सपना पूरा करने के लिए मुद्रा को पांच बार यूपीएससी परीक्षा देनी पड़ी, लेकिन एक बेटी ने अपने पिता का सपना पूरा कर दिखाया।

Focus keyword

सुपर स्टोरी

G-7 Summit || पीएम मोदी इटली से स्वदेश रवाना हुए, आउटरीच सेशन में टेक्नोलॉजी और AI पर दिया जोर G-7 Summit || पीएम मोदी इटली से स्वदेश रवाना हुए, आउटरीच सेशन में टेक्नोलॉजी और AI पर दिया जोर
प्रौद्योगिकी और एआई पर जोर इटली के अपुलिया में जी7 शिखर सम्मेलन के आउटरीच सत्र को संबोधित करते हुए पीएम...
Motivational || सुनील छेत्री, भारत के फुटबॉल स्टार ने लिया संन्यास, संघर्षों से जीतकर हासिल की ये सफलता
UPI Payment users || यूपीआई पेमेंट करने पर लगेगा चार्ज सामने आई बड़ी खबर जानिए पूरी डिटेल
Motivational || देवी चित्रलेखा जी: 6 वर्ष की उम्र से शुरू किया धार्मिक कथावाचन, आज देश के लिए बन चुकी हैं प्रेरणा
IPS Anshika Verma || बला की खूबसूरत हैं यूपी कैडर की यह IPS, बिना कोचिंग क्रैक किया था UPSC
Devi Chitralekha || देवी चित्रलेखा की 20 साल की उम्र में हुई थी शादी, जानें कथावाचिका के पति क्या करते
HDFC Bank Net Banking Update || HDFC Bank के ग्राहकों के लिए नया अपड़ेट, इतने वक्त तक Net Banking से लेकर UPI तक कुछ नहीं चलेगा
Dr Ganesh Baraiya || तीन फुट के डॉक्टर साब, जब करने पहुंचे इलाज तो चकरा गया मरीजों का दिमाग
Success Story || दर्जी की बिटिया ने छू लिया 'आसमान', गरीबी से उठकर बनी जज
Bank Off Baroda Good News || बैंक ऑफ बड़ौदा के धारकों के लिए बड़ी खुशखबरी! बैंक ने कर दिया बड़ा काम