दूध बेचकर करोड़पति बन गई ये महिला, कमाई के मामले में बड़े कारोबारियों को भी देती है मात

Gujarat Business woman: हर काम में कड़ी मेहनत और लगन से सफलता मिल सकती है। आप चाहते हो कि अच्छा जीवन या अच्छा पैसा कमाना हो। हर कुछ मेहनत से संभव है। आज बहुत से लोग अच्छे पैसे कमाने के लिए परेशान हैं। स्कूल कभी नहीं देखने वाली लड़की हर साल दूध बेचकर करोड़ों रुपये […]

Gujarat Business woman: हर काम में कड़ी मेहनत और लगन से सफलता मिल सकती है। आप चाहते हो कि अच्छा जीवन या अच्छा पैसा कमाना हो। हर कुछ मेहनत से संभव है। आज बहुत से लोग अच्छे पैसे कमाने के लिए परेशान हैं। स्कूल कभी नहीं देखने वाली लड़की हर साल दूध बेचकर करोड़ों रुपये कमाती है। गुजरात की 62 वर्षीय नवलबेन दलसंगभाई चौधरी ने इस कहानी का वर्णन किया। 2020 में नवलबेन ने कीर्तिमान स्थापित किया है। जब लोग हर चीज से परेशान थे, इस साल उन्होंने एक साल में एक करोड़ १० लाख रुपए का दूध बेचा। जानकारी के अनुसार, नवलबेन ने अकेले यह मुकाम हासिल किया है। अब नवलबेन इस काम के लिए हर जगह तारीफ हो रही है और लोग उनकी सराहना कर रहे हैं।

दुनिया में कब किसकी किस्तम बदल जाए, ये कोई नहीं जानता? साल 2020 में जहां पूरी दुनिया में तबाही मची थी, लोग दाने-दाने को तरस रहे थे, बेरोजगारी चरम पर थी। ऐसे में एक महिला की किस्मत ऐसे बदली कि वह करोड़पति बन गई। आज ये महिला लाखों लोगों के लिए मिसाल…

यह भी पढ़ें ||  Patience Level || इन तरीकों से बढ़ाएं अपना पेशेंस लेवल, पर्सनैलिटी में आएगा पॉजिटिव बदलाव

महिलाओं के लिए मिसाल बनीं नवलबेन
रिपोर्ट के अनुसार, नगाना गांव में रहने वाली नवलबेन ने बहुत छोटी रकम से पशुपालन शुरू किया था। लेकिन आज उन्होंने बहुत कुछ किया है। उन्हें ८० भैंस और ४५ गाय हैं। जिनसे प्रतिदिन 1000 लीटर दूध उत्पादित होता है। बात यह है कि नवलबेन हर महीने तीन लाख पच्चीस हजार रुपये का मुनाफा कमाती है अगर उनकी आमदनी एक महीने की होती है। इतना ही नहीं, इस डेयरी से उन्होंने ग्यारह लोगों को काम दिया है। 2019 में, नवलबेन ने 87 लाख रुपये से अधिक का दूध बेचा था। उन्हें पादरी पुरस्कार तीन बार और लक्ष्मी पुरस्कार दो बार भी मिला है।

बताना चाहते हैं कि गुजरात की रहने वाली इस महिला के लिए dairy business आसान नहीं था. जब  बिजनेस शुरू किया था तो उसे समय काफी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। उन्होंने हार नहीं मानी थी और सफलता पाने की गांठ बांध ली थी. नवलबेन की मेहनत रंग लाई और धीरे-धीरे करके  उनका बिज़नेस आगे बढ़ता गया. बताना चाहते हैं कि गुजरात की रहने वाली इस महिला के लिए डेरी बिजनेस आसान नहीं था. जब  बिजनेस शुरू किया था तो उसे समय काफी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। उन्होंने हार नहीं मानी थी और सफलता पाने की गांठ बांध ली थी. नवलबेन की मेहनत रंग लाई और धीरे-धीरे करके  उनका बिज़नेस आगे बढ़ता गया.

यह भी पढ़ें ||  Driving License New Rules || ड्राइविंग लाइसेंस के बिना इन गाड़ियों को चला सकते हैं आप, नहीं लगाने होंगे RTO के चक्कर

Focus keyword

Tags:

ट्रेंडिंग

Driving License New Rules || ड्राइविंग लाइसेंस के बिना इन गाड़ियों को चला सकते हैं आप, नहीं लगाने होंगे RTO के चक्कर Driving License New Rules || ड्राइविंग लाइसेंस के बिना इन गाड़ियों को चला सकते हैं आप, नहीं लगाने होंगे RTO के चक्कर
Driving License New Rules ||  अगर आप भी बिना ड्राइविंग लाइसेंस के सड़क पर दो पहिया या चार पहिया वाहन...
Chasma Kaise Hataye || चश्मा हटाना चाहते हैं या आंखों की रोशनी करनी है तेज, तो आज से ही शुरू कर दें इन फलों को खाना,
Retirement Tips || अगर नहीं करेंगे ये 4 गलतियां, तो बुढ़ापे में आपके पास होगा पैसा ही पैसा
सालाना 1 करोड़ की जॉब ठुकरा कर शुरू किया अपना बिज़नेस, आज हर महीने है करोड़ों की कमाई
भारत के इस शहर में रखा है दुनिया का सबसे बड़ा चाकू, कीमत जानकर आप भी हो जाओगें हैरान
Cheapest Hill Station In Himachal Pradesh || कभी घूमें हैं हिमाचल प्रदेश के इन सस्ते हिल स्टेशनों में? फैमिली के साथ निपटा सकते हैं पूरा ट्रिप

ENG \ Personal Finance