चम्बामेरी पांगी

पांगी: आवासीय आयुक्त पांगी ने ग्रामीणों के साथ किया अभद्र व्यवाहर, सीएम को भेजा ज्ञापन

Residential Commissioner Pangi behaved indecently with villagers, sent memorandum to CM

विज्ञापन

पांगी: जिला चंबा के जनजातीय क्षेत्र पांगी के ग्राम पंचायत शौर में स्थित वन विभाग के विश्राम गृह में आवासीय आयुक्त पांगी की अध्यक्षता में ग्रामीणों के साथ सतलुज जल विद्युत निगम परियोजना को लेकर एक बैठक का आयोजन किया गया। ग्रामीणों  के मना करने पर भी आवासीय आयुक्त पांगी द्वारा ग्रामीणों को धमकी भरी बातों से विद्युत परियोजना का कार्य शुरू करने के आदेश कंपनी को दे दिए है। बैठक के दौरान काफी समय तक आवासीय आयुक्त पांगी व ग्रामीणों के साथ बहसबाजी चली। बात यहां तक पहुंच गई कि पांगी प्रशासन की ओर से बैठक में मौजूद अधिकारियों की ओर से ग्रामीणों पर मामला दर्ज करने की बात कही गई।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शौर पंचायत के ग्रामीण सतलुज जल विद्युत परियोजना को लेकर पिछले काफी समय से विरोध कर रहे है। लेकिन इसके बावजूद भी प्रशासन ग्रामीणों को मनाने के लिए कई प्रकार के हथकंडे अपना रहा है। सतलुज जल विद्युत परियोजना शौर पंचायत के करीब 185 किसान प्रभावित हो रहे है। इस परियोजना से किसानों व बागवानों का काफी नुकसान हो रहा है। ग्रामीणों द्वारा आवासीय आयुक्त पांगी के समक्ष अपनी आपत्तियां दर्ज करवाने के बावजूद भी ग्रामीणों के साथ अभद्र व्यवहार किया गया है। इसको लेकर ग्रामीणों द्वारा पंचायत प्रधान दमयंती भारद्वाज की अगुवाई में प्रदेश के मुख्यमंत्री व राज्यपाल को ज्ञापन भेजा हुआ है।

यह भी पढ़ें-  हिमाचल: चुनावी साल में सत्ता के सहारे खूब मजे लेने वाले हुए गायब, सरकार-विधायकों के कार्यक्रमों में नहीं आ रहे नजर

और आवासीय आयुक्त के खिलाफ कार्रवाई की मांग उठाई हुई है। ग्राम पंचायत शोर के ग्रामीणों ने पांगी प्रशासन पर आरोप लगाया है कि वर्तमान में आवासीय आयुक्त पांगी द्वारा शौर पंचायत में बीते दिनों हुई बैठक के दौरान अभद्र व्यवहार किया गया है। उन्होंने बताया कि ग्रामीणों की जनसुनवाई नहीं हो रही है। लेकिन शोषण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पांगी प्रशासन की ओर से बिना ग्रामीणों के पूछे कंपनी को कार्य करने के आदेश जारी कर दिए गए है।

विज्ञापन
वायरल न्यूज़
फिल्मी दुनियां
आम-मुद्दा
हमारी टीम

Patrika News Desk

Publisher: Patrika News Himachal हम अपने पाठकों द्वारा कमेंट्स, मेल और फोन के जरिए दिए गए सुझावों और प्रतिक्रिया का खुले दिल से स्वागत करते हैं। कंटेंट को लेकर अपने पाठकों से अगर किसी तरह की कोई शिकायत मिलती है तो हम तुंरत ही उस खबर को रोक देते हैं और सबसे पहले फैक्ट्स को चेक करते हैं। फैक्ट्स की हर प्रकार से जांच के बाद ही हम खबर को प्रकाशित करते हैं। फैक्ट्स की प्रामाणिकता और प्रभाव को देखते हुए मिस्टेक/एरर को हम हटा या सुधार देते हैं
Back to top button
Snow