Raksha Bandhan 2023: ऐसा कैसे हुआ कि 13 साल लता ने बात नहीं की दिलीप कुमार से, फिर बांध दी राखी!

Raksha Bandhan 2023: ऐसा कैसे हुआ कि 13 साल लता ने बात नहीं की दिलीप कुमार से, फिर बांध दी राखी!

Raksha Bandhan: लता मंगेशकर और दिलीप कुमार आज नहीं रहे, लेकिन हिंदी सिनेमा का इतिहास उनके नाम और काम के बिना कभी नहीं लिखा जा सकेगा। बड़े भाई और छोटी बहन के बीच प्यार था। लता मंगेशेकर दिलीप कुमार को राखी बांधती थीं। लेकिन व्यवसाय में आने के बाद अक्सर नहीं। बल्कि उन्होंने दिलीप कुमार को एक बार इतना बुरा मान लिया था कि 13 साल तक अभिनय सम्राट से बात नहीं की। लेकिन बाद में, जब दोनों के गिले-शिकेव दूर हो गए, तो लता ने उन्हें राखी बांधने लगी, जिससे वे आखिरी वक्त तक भाई-बहन के रूप में रहे।

Raksha Bandhan Lata Mangeshkar Dilip Kumar Hindu-Muslim Super Story
लता मंगेशकर ने एक इंटरव्यू में दिलीप कुमार से नाराज होने के बारे में खुद कहा कि वह संगीतकार अनिल विश्वास और दिलीप कुमार के साथ एक दिन मुंबई की ट्रेन में थीं। तब परिचय भी गलत था। दिलीप कुमार को लता से परिचय कराते हुए अनिल विश्वास ने कहा कि यह लड़की बहुत अच्छी गाती है। तब दिलीप कुमार ने नाम पूछा और कहा कि नाम मराठी है। जब अनिल विश्वास ने स्वीकार किया दिलीप कुमार ने इस पर कहा कि मराठी लोगों की उर्दू दाल-चावल की तरह है। उनका अर्थ था कि वे सही उच्चारण नहीं कर सकते हैं। लता मंगेशकर को यह बुरा लगा।

वास्तव में, दोनों ने ऋषिकेश मुखर्जी की फिल्म मुसाफिर में लागी नाही छूटे नामक एक गाना साथ गाया था। लता ने गाना रिकॉर्ड किया और शानदार ढंग से गाया। दिलीप कुमार उनके सामने घबरा गए। लेकिन दिलीप कुमार की टिप्पणी से नाराज लता मंगेशकर ने 13 वर्ष की उम्र में भी उनसे बात नहीं की।

https://www.instagram.com/p/CRA_BnJHErk/?utm_source=ig_web_button_share_sheet

बाद में प्रसिद्ध लेखक खुशवंत सिंह ने अगस्त 1970 में अपने संपादन में निकलने वाली पत्रिका द इलस्ट्रेडेट विकली ऑफ इंडिया में स्वतंत्रता दिवस विशेषांक में दोनों हस्तियों को एक साथ लाने का विचार किया। लता मंगेशकर को दिलीप कुमार के घर लाने का काम वरिष्ठ पत्रकार राजू भारतन को सौंप दिया गया। खुशवंत सिंह ने विचार दिया कि दिलीप कुमार को लता मंगेशकर की राखी बांधी जाएगी और चित्र को पत्रिका के कवर पर लगाया जाएगा। हिंदू-मुस्लिम भाई-भाई शीर्षक से खुशवंत सिंह ने इस तस्वीर को छापा और पत्रिका का वह अंक देखते-देखते लोगों ने खरीद लिया। दिलीप कुमार और लता मंगेशकर के साथ यह पहला अवसर था। किंतु तस्वीर सिर्फ प्रदर्शन की नहीं रही थी। दोनों ने भाई-बहन की तरह एक-दूसरे को स्वीकार किया और पूरी जिंदगी के लिए एक रिश्ते में बंध गए।

सुपर स्टोरी

G-7 Summit || पीएम मोदी इटली से स्वदेश रवाना हुए, आउटरीच सेशन में टेक्नोलॉजी और AI पर दिया जोर G-7 Summit || पीएम मोदी इटली से स्वदेश रवाना हुए, आउटरीच सेशन में टेक्नोलॉजी और AI पर दिया जोर
प्रौद्योगिकी और एआई पर जोर इटली के अपुलिया में जी7 शिखर सम्मेलन के आउटरीच सत्र को संबोधित करते हुए पीएम...
Motivational || सुनील छेत्री, भारत के फुटबॉल स्टार ने लिया संन्यास, संघर्षों से जीतकर हासिल की ये सफलता
UPI Payment users || यूपीआई पेमेंट करने पर लगेगा चार्ज सामने आई बड़ी खबर जानिए पूरी डिटेल
Motivational || देवी चित्रलेखा जी: 6 वर्ष की उम्र से शुरू किया धार्मिक कथावाचन, आज देश के लिए बन चुकी हैं प्रेरणा
IPS Anshika Verma || बला की खूबसूरत हैं यूपी कैडर की यह IPS, बिना कोचिंग क्रैक किया था UPSC
Devi Chitralekha || देवी चित्रलेखा की 20 साल की उम्र में हुई थी शादी, जानें कथावाचिका के पति क्या करते
HDFC Bank Net Banking Update || HDFC Bank के ग्राहकों के लिए नया अपड़ेट, इतने वक्त तक Net Banking से लेकर UPI तक कुछ नहीं चलेगा
Dr Ganesh Baraiya || तीन फुट के डॉक्टर साब, जब करने पहुंचे इलाज तो चकरा गया मरीजों का दिमाग
Success Story || दर्जी की बिटिया ने छू लिया 'आसमान', गरीबी से उठकर बनी जज
Bank Off Baroda Good News || बैंक ऑफ बड़ौदा के धारकों के लिए बड़ी खुशखबरी! बैंक ने कर दिया बड़ा काम