मंडी: बीजेपी का डबल इंजन क्यों भूला भूवुजोत टनल निर्माण, चौहार घाटी की जनता में सांसद व विधायक के झूठे वादों की हो रही खूब चर्चा!

बीते तीन वर्षों से घाटी की तीन सडकें पूरी तरह बदहाली झेलती हुई

सुभाष ठाकुर
मंडी: द्रंग विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली चौहार घाटी की 14 पंचायतों की तरफ प्रदेश सरकार व सरकार के नुमाइदों द्वारा घाटी की जनता की समस्याओं को ऐसे नजर अंदाज किया जाता है, जैसे घाटी की जनता किसी दूसरे देशों से आकर यहां जबरन कब्जा कर रहते हैं। पिछले तीन वर्षों से चौहार घाटी की तीन प्रमुख सडकें कटौला से बथेर, पधर से बल्ह रोपा व फियून गलू से शिल्हबुधानी रोड़ की ऐसी हालत हुई है कि सडकें पूरी तरह से उखड़ चुकी हैं लेकिन लोक निर्माण विभाग की नजरें चौहार घाटी की सडकों पर नहीं जाती है। यही नहीं पूर्व में हुए निर्माण कार्यों की दर्जनों उद्घाटन व शिलान्यास पट्टिकाओं को तोडऩे पर भी विभाग कोई संज्ञान नहीं ले सका है। चौहार घाटी की 14 पंचायतों में से बरोट एक ऐसी पंचायत भी है, जहां से हिंदुस्तान के सबसे पहले जल विद्युत परियोजना का निर्माण कार्य कर शुरू कर पाकिस्तान के लाहौर में बिजली के बल्ब जला कर रोशन किया हुआ था। ईस्ट इण्डिया कम्पनी द्वारा हिंदुस्तान की सबसे पहली शानन जल विद्युत परियोजना का निर्माण ही नहीं बल्कि जोगिंद्र नगर तक रेल लाइन का निर्मण भी किया हुआ है।

वादा तेरा वादा झूठा तेरा वादा

डबल इंजन से होगा भूवुजोत टनल का निर्माण का काम इस वादे पर कार्य शुरू नहीं होने पर मंडी संसदीय क्षेत्र सांसद राम स्वरूप शर्मा व भाजपा विधायक जवाहर ठाकुर के झूठे वादों से तंग चौहार घाटी की जनता किशोर कुमार की 1971 में बनाई हुई ह्यदुश्मनह्ण फिल्म का एक गाना ह्यवादा तेरा वादा झूठा तेरा वादाह्ण गुनगुनाने लगी है। चौहार घाटी की सिल्हबुधानी पंचायत से होकर भूवुजोत टनल निर्माण कर कुल्लू की दूरी 70 किलोमीटर कम करने का वादा झूठा साबित हुआ है।


Related Posts

राजनीति से ऊपर उठकर मुख्यमंत्री से उठाएंगे चौहार घाटी के लोग भूवुजोत टनल निर्माण की मांग

आजादी के 74 वर्ष बाद भी रेल लाइन जोगिंद्र नगर से आगे एक इंच भी प्रदेश व केंद्र की सरकारें आगे नहीं बढ़ा पाई। मंडी संसदीय क्षेत्र से 2014 के लोकसभा चुनावों में राम स्वरूप शर्मा ने वादा किया था कि शानन विद्युत परियोजना को हिमाचल का हक दिलाना, जोगिंद्र नगर से रेल लाइन को मंडी तक पहुंचना व चौहार घाटी की सिल्हबुधानी पंचायत से भूवुजोत टनल का जल्द से जल्द निर्माण कर जोगिंद्र नगर से कुल्लू के बीच की 70 किलोमीटर की दूरी कम की जायेगी यह मुख्य वादे किए हुए थे। सांसद राम स्वरूप शर्मा द्वारा मंडी संसदीय क्षेत्र की जनता से किये हुए वादों को कोई भी पूरा नहीं कर पाए। 2019 के लोकसभा चुनावों में फिर से द्रंग के बीजेपी विधायक जवाहर ठाकुर के साथ सांसद राम स्वरूप शर्मा ने चौहार घाटी की जनता को एक बार फिर सें डबल इंजन की सरकार का झांसा देकर भूवुजोत टनल का निर्माण करने का वादा किया। चौहार घाटी की जनता को सांसद राम स्वरूप शर्मा व बीजेपी विधायक जवाहर ठाकुर ने जीतने के बाद एक बार भी आज तक भूवुजोत टनल निर्माण व चौहार घाटी में पर्यटक को बढ़ावा जैसे वायदों पर बिल्कुल भी काम नहीं किया जा रहा है।


चौहार घाटी की सभी 14 पंचायतें सांसद राम स्वरूप शर्मा व विधायक जवाहर ठाकुर द्वारा किए झूठे वादों को लेकर काफी आक्रोश में लग रहे हैं। चौहार घाटी की सभी सडकों की बहुत ही खस्ती हालत हो चुकी है विधायक जवाहर ठाकुर घाटी के दौरे कर जनता को आश्वासन दे कर चले जाते हैं। लेकिन सडकों की हालत को देख कर चौहार घाटी की जनता प्रदेश सरकार के सौतेले रवैये से काफी आक्रोशित हो चुकी है। चौहार घाटी के चुने हुए नवनियुक्त प्रधानों, पंचायत समितियों, उप प्रधानों द्वारा जल्द ही मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर से भूवुजोत टनल निर्माण का मामला उठाया जायेगा। चौहार घाटी की 14 पंचायतों के चुने हुए सभी पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों द्वारा सांसद राम स्वरूप शर्मा व जवाहर ठाकुर द्वारा किए हुए डबल इंजन द्वारा तेजी से होने वाले विकास कार्यों के झूठे वादों की खूब आलोचना हो रही है।


Related Posts