Success Story Simran: 80,000 करोड़ का बिजनेस ठुकराया, अपने दम पर बनाई 150 करोड़ की कंपनी, देश के सबसे पसंदीदा बाइक ब्रांड से ताल्लुक

Success Story Simran: 80,000 करोड़ का बिजनेस ठुकराया, अपने दम पर बनाई 150 करोड़ की कंपनी, देश के सबसे पसंदीदा बाइक ब्रांड से ताल्लुक
Success Story Simran: रॉयल इनफील्ड बुलेट और आयशर ट्रैक्टर बनाने वाली कंपनी का टर्नओवर लगभग 80 हजार करोड़ रुपये है। सिद्धार्थ लाल यानी सिड लाल की इस कंपनी का अधिकांश रेवेन्यू बाइक सेग्मेंट से रहता है। लेकिन उनकी बहन सिमरन लाल को भी इस कंपनी में प्रमुख पद मिल गया। सिमरन ने इस आसान काम […]

Success Story Simran: रॉयल इनफील्ड बुलेट और आयशर ट्रैक्टर बनाने वाली कंपनी का टर्नओवर लगभग 80 हजार करोड़ रुपये है। सिद्धार्थ लाल यानी सिड लाल की इस कंपनी का अधिकांश रेवेन्यू बाइक सेग्मेंट से रहता है। लेकिन उनकी बहन सिमरन लाल को भी इस कंपनी में प्रमुख पद मिल गया। सिमरन ने इस आसान काम को करने के बजाय अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने का कठिन तरीका चुना। उन्होंने अपनी मां के स्टार्टअप को कुछ ही वर्षों में 30 गुना बढ़ाया हुआ है। वहीं अब 5 करोड़ रुपये का टर्नओवर बनाया।

सिमरन लाल ने स्थापित परिवार का व्यवसाय में जुड़कर अपने करियर बनाने का निर्णय
जहां सिड लाल विरासत में मिली एक कंपनी को नई उचाईयों पर ले जा रहे हैं, दूसरी ओर वहीं सिमरन लाल ने स्थापित परिवार का व्यवसाय में जुड़कर अपने करियर बनाने का निर्णय लिया। सिमरन लाल ने अपनी मां द्वारा शुरू की गई छोटी कंपनी को विस्तार देने का निर्णय लिया। इस कंपनी का नाम Goodarth है। 1996 में इसका उद्घाटन हुआ था। आज सिमरन लाल ने खुद इस कंपनी को 150 करोड़ रुपये का बनाया। यहाँ एक दिलचस्प तथ्य है कि गुडअर्थ सिमरन लाल के दादा मोहनलाल की कंपनी का नाम भी था, जो जर्मनी की आयशर के साथ पार्टनरशिप में भारत आई थी। बाद में आयशर को मोहनलाल के बेटे और सिमरन और सिड के पिता विक्रम लाल ने पूरी तरह से भारतीय कंपनी बनाया।

यह भी पढ़ें ||  Himachal Government Announcement || हिमाचल के हजारों दैनिक वेतनभोगियों को सुक्खू सरकार का बड़ा तोहफा, दरों को किया संशोधित

सिमरन 2002 में गुडअर्थ के साथ जुड़ी थीं. सीईओ बनने से पहले उन्होंने कंपनी में कार्यकारी अधिकारी के रूप में काम किया और कई विभागों के काम देखे. उन्होंने कंपनी को देश सफलतम लग्जरी लाइफस्टाइल ब्रांड बना दिया. कंपनी फैशन, होम और वैलनेस संबंधी सामान बेचती है. जब उन्होंने कंपनी की कमान सीईओ के तौर पर अपने हाथ में ली तब रेवेन्यू 5 करोड़ रुपये था. 2016-17 तक यह बढ़कर 150 करोड़ रुपये हो गया. इसके बाद के कंपनी के वित्तीय आंकड़े नहीं मिलते हैं. उन्होंने 2017 में अपने पति राहुल राय के साथ मिलकर एक और लाइफस्टाइल ब्रांड की शुरुआत की जिसका नाम निकोबार है.

यह भी पढ़ें ||  Himachal Cabinet Meeting || PTA टीचरों के लिए खुशखबरी, मल्टी टॉस्क वर्करों के 1​ हजार पदों पर निकली बंपर भर्ती

यह भी पढ़ें ||  Himachal Political Crisis || सुक्खू सरकार का एक और नया ड्रामा, कैबिनेट छोड़कर निकले ​शिक्षा मंत्री रोहित, मुकेश मनाकर वापस लाए

Focus keyword

Tags:

ट्रेंडिंग

Anti Hangover Medicine || मार्केट में आ गई है शराबियों के लिए एंटी हैंगओवर Myrkl गोली, लिवर पर नहीं पड़ेगा अब बुरा असर Anti Hangover Medicine || मार्केट में आ गई है शराबियों के लिए एंटी हैंगओवर Myrkl गोली, लिवर पर नहीं पड़ेगा अब बुरा असर
हाइलाइट्समार्केट में आ गई है शराबियों के लिए एंटी हैंगओवर Myrkl गोली60 मिनट के भीतर पी गई 70 प्रतिशत शराब...
UPSC Exam || IAS और IPS अधिकारी बनने के लिए कौन सी डिग्री सबसे अच्छी है? जानिए यूपीएससी की तैयारी कैसे करें
Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय
IPS Officer Success Story || IPS पति-पत्नी का अनोखा अंदाज, काम करने का अलग अंदाज, लोग करते हैं तारीफ
Success Story || 42 साल की मां ने अपने 24 साल के बेटे के साथ पास की PCS की परीक्षा, दोनों एक साथ बने अफसर
PPI Card For Public Transport || RBI ने दी बैंको को दी ये मंजूरी, रेल, मेट्रो, बस, पार्किंग पेमेंट होगा आसान