Himachal Pradesh News: हिमाचल में शिक्षकों का तबादला 30 किलोमीटर से बाहर होगा, सरकार ने पुराने नियम बदले

Himachal Pradesh News: हिमाचल में शिक्षकों का तबादला 30 किलोमीटर से बाहर होगा, सरकार ने पुराने नियम बदले

Himachal Pradesh News: अब राज्य में शिक्षकों के तबादले 30 किलोमीटर से बाहर होंगे। प्रदेश की सुखविंद्र सिंह सुक्खू सरकार ने करीब 80,000 शिक्षकों के तबादलों के लिए पुराने नियमों को बदल दिया है। शिक्षकों कास्थानांतरण 30 किलोमीटर से बाहर होगा हिमाचल प्रदेश में अब शिक्षकों का स्थानांतरण 30 किलोमीटर से बाहर होगा। प्रदेश की […]

Himachal Pradesh News: अब राज्य में शिक्षकों के तबादले 30 किलोमीटर से बाहर होंगे। प्रदेश की सुखविंद्र सिंह सुक्खू सरकार ने करीब 80,000 शिक्षकों के तबादलों के लिए पुराने नियमों को बदल दिया है।

शिक्षकों कास्थानांतरण 30 किलोमीटर से बाहर होगा

यह भी पढ़ें ||  Big News Himachal || पिता वीरभद्र सिंह के अपमान पर भावुक हुए विक्रमादित्य सिंह, बीजेपी में जाने की हो सकती है तैयारी

हिमाचल प्रदेश में अब शिक्षकों का स्थानांतरण 30 किलोमीटर से बाहर होगा। प्रदेश की सुखविंद्र सिंह सुक्खू सरकार ने करीब 80,000 शिक्षकों के तबादलों के लिए पुराने नियमों को बदल दिया है। तबादले के लिए सरकार ने दूरी को पांच किलोमीटर बढ़ा दिया है। अब शिक्षकों को एक स्थान पर तीन वर्ष काम करने के बाद ३० किलोमीटर दूर जाना अनिवार्य है। पहले तबादले २५ किलोमीटर के भीतर होते थे। राज्य मंत्रिमंडल से अनुमोदन के बाद शिक्षा विभाग ने इस बारे में सूचना दी है। इस महीने से राज्य में यह व्यवस्था लागू हो जाएगी।

यह भी पढ़ें ||  Himachal Pradesh News || हिमाचल में CM सुक्खू का बागी 6 विधायकों पर एक्शन, सदस्यता हुई रद्द, स्पीकर ने सुनाया फैसला

एक स्कूल में तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा होते ही

यह भी पढ़ें ||  Rajya Sabha Election Result Breaking || हिमाचल में पलट गई बाजी, राज्यसभा चुनाव में हर्ष महाजन की बड़ी जीत

अब एक स्कूल में तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा होते ही आपसी सहमति से नजदीकी शिक्षक के साथ स्कूल बदलने के तबादला आदेश जारी करवाने वाले शिक्षकों की राह आसान नहीं होगी। सरकार ने तबादला नीति में बदलाव करते हुए शिक्षकों को थोड़ा बाहर और शहरों के आसपास सटे स्कूलों में भेज दिया है। विभागीय अधिकारियों ने तीस की जगह चालिस किलोमीटर की दूरी से बाहर शिक्षकों को स्थानांतरित करने का सुझाव दिया था, लेकिन सरकार ने तीस किलोमीटर ही रखने की अनुमति दी है। इस नई व्यवस्था से ऐसे स्कूलों में शिक्षकों की कमी दूर हो जाएगी, जहां लोग नहीं जाना चाहते थे।

प्रदेश सरकार ने विद्यार्थियों की संख्या बढ़ने पर पांच स्कूलों को दोबारा खोला है।
शिक्षा सचिव ने एक अधिसूचना जारी की है जिसके अनुसार सोलन में वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल गनोल, चंबा में मिडल स्कूल कुलाल, कुल्लू में प्राइमरी स्कूल बलआरगा और चंबा में कहलोह स्कूल फिर से खुलेंगे। इन स्कूलों में निर्धारित संख्या से अधिक विद्यार्थियों ने प्रवेश लिया, जिससे वे बंद हो गए।

Focus keyword

ट्रेंडिंग

Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर अब अरबपति तक पीने आते हैं चाय
Dolly Chaiwala Story || चाय के चक्कर में छोड़ी पढ़ाई, स्वाद और अंदाज से मिली शोहरत, 'डॉली' की टपरी पर...
IPS Officer Success Story || IPS पति-पत्नी का अनोखा अंदाज, काम करने का अलग अंदाज, लोग करते हैं तारीफ
Success Story || 42 साल की मां ने अपने 24 साल के बेटे के साथ पास की PCS की परीक्षा, दोनों एक साथ बने अफसर
PPI Card For Public Transport || RBI ने दी बैंको को दी ये मंजूरी, रेल, मेट्रो, बस, पार्किंग पेमेंट होगा आसान
Success Story || 1.5 लाख महीने की सरकारी नौकरी छोड़ बने IAS, जॉब के साथ की तैयारी, UPSC में पाई 8वीं रैंक
kalyanaraman Success Story || कभी कर्ज लेकर शुरू की थी सोने की दुकान, आज खड़ी कर दी 17,000 करोड़ की कल्याण ज्वेलर्स कंपनी